Title~ ऐ हैरते Lyrics
Movie/Album~ गुरु 2007
Music~ ए.आर.रहमान
Lyrics~ गुलज़ार
Singer(s)~ अलका याग्निक, हरिहरन

ऐ हैरते आशिकी जगा मत
पैरों से ज़मीं, ज़मीं लगा मत
दमदारा दमदारा चश्म-चश्म नम
दमदारा दमदारा चश्म-चश्म नम
सुन मेरे हमदम
हमेशा इश्क में ही जीना

क्यों उर्दू, फारसी बोलते
दस कहते हो, दो तौलते हो
झूठों के शहनशाह बोलो ना
कभी झाँकों, मेरी ऑंखें
सुनाये इक दास्ताँ
जो होठों से खोलो ना
ऐ हैरते आशिकी…

दो चार महीन से लम्हों में
उम्रों के हिसाब भी होते हैं
जिन्हें देखा नहीं कल तक
कहीं भी अब कोख में वो चेहरे बोते है
ऐ हैरते आशिकी…

See also  Humein Tumse Pyar Kitna Lyrics-Kishore Kumar, Parveen Sultana, Kudrat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *