Title – ऐ मेरे उदास मन Lyrics
Movie/Album- मान अभिमान Lyrics-1980
Music By- रविन्द्र जैन
Lyrics- रविन्द्र जैन
Singer(s)- येसुदास

ऐ मेरे उदास मन
चल दोनों कहीं दूर चले
मेरे हमदम तेरी मंज़िल
ये नहीं, ये नहीं, कोई और है
ऐ मेरे उदास मन…

इस बगिया का हर फूल, देता है चुभन काँटों की
सपने हो जाते हैं धूल, क्या बात करें सपनों की
मेरे साथी तेरी दुनिया
ये नहीं, ये नहीं, कोई और है
ऐ मेरे उदास मन…

जाने मुझसे हुई क्या भूल, जिसे भुला सका न कोई
पछतावे के आँसू, मेरी आँख भले ही रोये
ओ रे पगले तेरा अपना
ये नहीं, ये नहीं, कोई और है
ऐ मेरे उदास मन…

पत्थर भी कभी इक दिन, देखा है पिघल जाते हैं
बन जाते हैं शीतल नीर, झरनों में बदल जाते हैं
तेरी पीड़ा से जो पिघले
ये नहीं, ये नहीं, कोई और है
ऐ मेरे उदास मन…

See also  Wo Meri Neend Lyrics- Sadhna Sargam, Hum Hain Rahi Pyar Ke

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *