Title ~ धीमी धीमी Lyrics
Movie/Album ~ 1947 अर्थ Lyrics- 1999
Music ~ ए.आर.रहमान
Lyrics ~ जावेद अख्तर
Singer (s)~हरिहरन

Dheemi Dheemi Lyrics- Hariharan, 1947 Earth

धीमी धीमी, भीनी भीनी
खुशबू है तेरा बदन
सुलगे महके पिघले दहके
क्यों ना बहके मेरा मन
वो चली हवा, के नशा घुला
हैं समा भी जैसे धुआँLyrics-धुआँ
तेरा रुप है, की ये धूप है
खुले बाल है, के है बदलियाँ
तू जो पास है, मुझे प्यास है
तेरे जिस्म का एहसास है

सांस भी जैसे रुक सी जाती है
तू जो पास आये तो आँच आती है
दिल की धड़कन भी, मेरे सीने में लडखडाती है
ये तेरा तन बदन, कैसी है ये अगन
ठंडक है जिस्म तू वो आग है
बलखाती है जो तू, लहराती है जो तू
लगता है ये बदन, इक राग है
वो चली हवा…

See also  Saanjh Dhale Gagan Tale Lyrics-Suresh Wadkar, Utsav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *