Title ~ दो दिल मिल रहे हैं Lyrics
Movie/Album ~ परदेस Lyrics- 1997
Music ~ लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics ~ आनंद बक्षी
Singer (s)~कुमार सानू

दो दिल मिल रहे हैं
मगर चुपके चुपके
सबको हो रही है
खबर चुपके चुपके

सांसों में बड़ी बेकरारी
आँखों में कई रत जगे
कभी कहीं लग जाये दिल तो
कहीं फिर दिल ना लगे
अपना दिल मैं ज़रा थाम लूं
जादू का मैं इसे नाम दूं
जादू कर रहा है, असर चुपके चुपके
दो दिल मिल रहे हैं…

ऐसे भोले बन कर हैं बैठे
जैसे कोई बात नहीं
सब कुछ नज़र आ रहा है
दिन है ये रात नहीं
क्या है कुछ भी नहीं है अगर
होठों पे है ख़ामोशी मगर
बातें कर रहीं हैं, नज़र चुपके चुपके
दो दिल मिल रहे हैं…

कहीं आग लगने से पहले
उठता है ऐसा धुंआ
जैसा है इधर का नज़ारा
वैसा ही उधर का समा
दिल में कैसी कसक सी जगी
दोनों जानिब बराबर लगी
देखो तो इधर से, उधर चुपके चुपके
दो दिल मिल रहे हैं…

See also  Welcome Lyrics Shaan, Wajid, Sowmya Raoh, Title Track

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *