Title – एक सुबह एक मोड़ पर Lyrics
Movie/Album- हिप हिप हुर्रे -1984
Music By- वनराज भाटिया
Lyrics- गुलज़ार
Singer(s)- येसुदास

एक सुबह एक मोड़ पर
मैंने कहा उसे रोक कर
हाथ बढ़ा ऐ ज़िन्दगी
आँख मिला के बात कर

रोज़ तेरे जीने के लिये
एक सुबह मुझे मिल जाती है
मुरझाती है कोई शाम अगर
तो रात कोई खिल जाती है
मैं रोज़ सुबह तक आता हूँ
और रोज़ शुरू करता हूँ सफ़र
हाथ बढ़ा ऐ ज़िंदगी…

तेरे हज़ारों चेहरों में
एक चेहरा है मुझसे मिलता है
आँखों का रंग भी एक सा है
आवाज़ का अंग भी मिलता है
सच पूछो तो हम दो जुड़वा हैं
तू शाम मेरी मैं तेरी सहर
हाथ बढ़ा ऐ ज़िन्दगी…

See also  Ye Hawaa Ye Fiza Lyrics-Asha Bhosle, Suresh Wadkar, Sadma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *