Title – गूँजा रे चंदन Lyrics
Movie/Album- नदिया के पार Lyrics-1982
Music By- रविन्द्र जैन
Lyrics- रविन्द्र जैन
Singer(s)- सुरेश वाडकर, हेमलता

गूँजा रे, चन्दन चन्दन चन्दन
हम दोनों में दोनों खो गए
देखो एक दूसरे के हो गए
राम जाने वो घड़ी कब आएगी
जब होगा हमार गठबँधन
गूँजा रे…

हो सोना नदी के पानी हिलोर मारे
प्रीत मनवा मा हमरे जोर मारे
है ऐसन कइसन होई गवा रे, राम जाने
राम जाने वो घड़ी…

तेरे सपनों में डूबी रहे आँखें
तेरी खुशबू से महक रही साँसें
रंग तेरे पाँव का लग के मेरे पाँव में
कहे दिन काटेंगे रँगों की छाँव में
हो, बूढ़े बरगद की माटी को सीस धर ले
दीपा सत्ती को सौ -सौ परनाम कर ले
ओ देगी आसीस तो जल्दी बियाहेगी, राम जाने
राम जाने वो घड़ी…

See also  Dhire Dhire Aap Mere Lyrics- Udit Narayan, Sadhana Sargam, Baazi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *