Title : हमें काश तुमसे मुहब्बत Lyrics
Movie/Album/Film: मुग़ल-ए-आज़म Lyrics-1960
Music By: नौशाद अली
Lyrics : शकील बदायुनी
Singer(s): लता मंगेशकर

हमें काश तुमसे मुहब्बत न होती
कहानी हमारी हक़ीकत न होती

दिल तुमको देते, न मजबूर होते
न दुनिया, न दुनिया के दस्तूर होते
क़यामत से पहले क़यामत न होती
हमें काश तुमसे मुहब्बत…

हमीं बढ़ गये इश्क़ में हद से आगे
ज़माने ने ठोकर लगायी तो जागे
अगर मर भी जाते तो हैरत न होती
हमें काश तुमसे मोहब्बत

तुम्हीं फूँक देते नशेमन हमारा
मुहब्बत पे एहसान होता तुम्हारा
ज़माने से कोई शिकायत न होती
हमें काश तुमसे मोहब्बत…

See also  Woh Pardesi Man Mein Lyrics-Lata Mangeshkar, Barsaat Ki Ek Raat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *