Jab Kabhi Mud Ke Lyrics-Bhupinder Singh, Asha Bhosle, Hip Hip Hurray

Title – जब कभी मुड़ के Lyrics
Movie/Album- हिप हिप हुर्रे -1984
Music By- वनराज भाटिया
Lyrics- गुलज़ार
Singer(s)- भूपिंदर सिंह, आशा भोंसले

जब कभी मुड़ के देखता हूँ मैं
तुम भी कुछ अजनबी सी लगती हो
मै भी कुछ अजनबी सा लगता हूँ
जब कभी मुड़ के…

साथ ही साथ चलते चलते कहीं
हाथ छूटे मगर पता ही नहीं
आँसुओं से भरी सी आँखों में
डूबी डूबी हुई सी लगती हो
तुम बहुत अजनबी सी लगती हो
जब कभी मुड़ के…

हम जहाँ थे, वहाँ पे अब तो नहीं
पास रहने का भी सबब तो नहीं
कोइ नाराज़गी नहीं है मगर
फिर भी रूठी हुई सी लगती हो
तुम भी अब अजनबी सी लगती हो
जब कभी मुड़ के…

रात उदास नज़्म लगती है
ज़िन्दगी से रस्म लगती है
एक बीते हुए से रिश्ते की
एक बीती घड़ी से लगते हो
तुम भी अब अजनबी से लगते हो
जब कभी मुड़ के…

Leave a Comment

Your email address will not be published.