Joru Ka Gulam Lyrics -Shamshad Begum, Asha Bhosle, Sharada

Title : जोरू का गुलाम
Movie/Album: शारदा (1957)
Music By: सी.रामचंद्र
Lyrics By: कमल बरोट
Performed By: शमशाद बेगम, आशा भोंसले

ये सुबह सुबह क्या करते आप, भागवान गीता का जाप
क्यों रे निखटू, भाड़े के ट्ट्टु, और नहीं कोई तुझको काम
जब देखो ये पुस्तक लेकर, जपता है तू राम नाम
अरि भागवान, नाम राम का लेना तो कोई पाप नहीं है
पकी पकाई देने वाला, घर में कोई तेरा बाप नहीं है
भागवान ज़रा धीरे बोल, क्या मैं ऊँचा बोल रही हूँ
बात बात में ज़हर न घोल, मैं तो अमृत घोल रही हूँ
ये अमृत है तो जा ला दे, एक ज़हर का प्याला
अरे मैं नहीं विधवा होने वाली, तेरे कहे से लाला
बोल तू पहले अपने तोल, मैं तो मोती रोल रही हूँ
भागवान ज़रा धीरे बोल…

क्यों भई लाला सुन्दर लाल, कहो आजकल क्या है हाल
बीवी के हाथों बेज़ार, मर गये जीते जी हम यार
चुप बैठूँ तो वो नाराज़, बोल पडूँ तो सत्यानाश
यार कहीं से ला दे मुझको, तोला भर अफ्यून
सुख का साथ मिले, जो छूटे ये हत्यारी जूम
देख लो ये जोरु का गुलाम देख लो
मर्दों को करे बदनाम देख लो
देख लो ये जोरु का गुलाम…

औरत से ये मार खाये, हाथ उठा ना पाये
तो बोलो भईया काहे, दुनिया में तुम आये
देखना हो तो ये भोलाराम देख लो
मर्दों को करे बदनाम देख लो…

अरे तू होवत काहे भई उदास
जब कह ही गये कवि तुलसीदास
अरे लल्ले की माँ ने भईया, पढ़ी नहीं रामायण
पढ़ी जो होती काहे मेरे, पीछे पड़ती डायन
तो सुनो बताऊँ एक तरक़ीब, हो जाओ बेदंग
हींग लगे न फटकड़ी, और चोखा आये रंग

See also  Kahin Kahin Se Har Chehra Jagjit Singh, Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Ghazal

क्यों रे निखटू, भाड़े के ट्ट्टु, हो तेरा सत्यानाश
बोल ये तेरे मुँह से कैसी, आज आ रही बास
हम तो आज चढ़ा के आये, पी के और पीला के आये
अरे बोल कहाँ से पी के आया
ये न समझना चोरी की है, तेरे बाबा के संग पी है
लेता है मेरे बाप का नाम, तेरा बाबा बड़ा शराबी
मेरा बाबा, हाँ तेरा बाबा बड़ा शराबी…

क्या हो गया इनको हाय राम, बदल गये दिन भागवान
बोल तू धीरे बोलेगी, बोलूँगी
ज़हर कभी फिर घोलेगी, ना ना अमृत घोलूँगी
क्षमा करो मेरे स्वामी मुझको, बोल को पहले तोलूँगी
सदा ही भांति डोलूँगी, सदा ही धीरे बोलूँगी
सदा ही धीरे बोलूँगी…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *