Title~ ओ मेरी जाँ Lyrics
Movie/Album~ लाइफ इन अ मेट्रो 2007
Music~ प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics~ सईद कादरी
Singer(s)~ के.के.

दिल खुदगर्ज़ है
फ़िसला है ये, फ़िर हाथ से
कल उसका रहा, अब है तेरा
इस रात से
ओ मेरी जाँ

तू आ गया यूँ नज़र में
जैसे सुबह दोपहर में
मदहोशी यूँ ही नहीं
दिल पे छाई
नियत ने ली अँगड़ाई
छुआ तूने, कुछ इस तरह
बदली फ़िज़ा, बदला समां
ओ मेरी जाँ…

नाता समझे ना हाँ ये दिल मेरा
जानूँ ना, जानूँ ना इसको क्या हुआ
मेरी बाहों की फिर से ढूँढे ये पनाह
तू है कहाँ, तू है कहाँ
ओ मेरी जाँ…

See also  Wo Jab Yaad Aaye Lyrics-Lata Mangeshkar, Md.Rafi, Parasmani

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *