Title~ रात हमारी तो Lyrics
Movie/Album~ परिणीता 2005
Music~ शांतनु मोइत्रा
Lyrics~ स्वानंद किरकिरे
Singer(s)~ स्वानंद किरकिरे, के.एस.चित्रा

रतिया कारी कारी रतिया
रतिया अंधियारी रतिया
रात हमारी तो, चाँद की सहेली है
कितने दिनों के बाद, आई वो अकेली है
चुप्पी की बिरहा है, झींगुर का बाजे साथ

रात हमारी तो, चांद की सहेली है
कितने दिनो के बाद, आई वो अकेली है
समझा के बाती भी कोई बुझा दे आज
अंधेरे से जी भर के, करनी है बातें आज
अँधेरा रूठा है, अँधेरा बैठा है
गुमसुम सा कोने में बैठा है
रात हमारी तो, चांद की सहेली है…

अंधेरा पागल है, कितना घनेरा है
चुभता है, डसता दस्ता है, फिर भी वो मेरा है
उसकी ही गोदी में, सर रख के सोना है
उसकी ही बाहों में, चुपके से रोना है
आँखों से काजल बन, बहता अंधेरा आज
रात हमारी तो, चांद की सहेली है…

See also  Pyar Humko Hone Laga K.S.Chithra, Abhijeet, Tum Bin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *