Sajti Hai Yun Hi Mehfil Lyrics-Asha Bhosle, Kudrat

Title – सजती है यूँ ही महफ़िल Lyrics
Movie/Album- कुदरत -1981
Music By- राहुल देव बरमन
Lyrics- मजरूह सुल्तानपुरी
Singer(s)- आशा भोंसले

सजती है यूँ ही महफ़िल, रंग यूँ ही ढलने दो
इक चराग बुझने दो, इक चराग जलने दो
सजती है यूँ ही महफ़िल…

साज़-ए-तमन्ना लाओ कोई गीत गायें हम
जशन-ए-मोहब्बत है ये, झूम के मनाएँ हम
शाम ये मुरादों की सुबह तक तो चलने दो
सजती है यूँ ही महफ़िल…

अब तो नज़र भी अपनी, उठती है दुआ बनकर
धड़कन भी निकली दिल से, नग़मे वफ़ा बनकर
आज तो दिलो जाँ की, हसरतें निकलने दो
सजती है यूँ ही महफ़िल…

Leave a Comment

Your email address will not be published.