Title : तक़दीर कहाँ ले जाएगी Lyrics
Movie/Album/Film: साँझ और सवेरा Lyrics-1964
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics : शैलेंद्र
Singer(s): मोहम्मद रफ़ी

तक़दीर कहाँ ले जाएगी मालूम नहीं
लेकिन है यक़ीं आएगी मंज़िल, आएगी मंज़िल
तक़दीर कहाँ ले जाएगी…

पैरों की थकन कहती है ठहर
मुश्किल है डगर लम्बा है सफ़र
पर दिल कहता है गर्दिश भी
आख़िर तो कहीं पहुँचाएगी
लेकिन है यक़ीं…

हैरत से न तुम देखो मुझको
और हाल भी मेरा मत पूछो
अब मेरी तबियत बातों से
कुछ भी न बहलने पाएगी
लेकिन है यक़ीं…

See also  Mubarak Ho Tumko Lyrics Udit Narayan, Haan Maine Bhi Pyaar Kiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *