Tum Ho Haseen Kahan Ke Lyrics-Md.Rafi, Asha Bhosle, Sharabi

Tum Ho Haseen Kahan Ke Lyrics-Md.Rafi, Asha Bhosle, Sharabi

Title : तुम हो हसीं कहाँ के Lyrics
Movie/Album/Film: शराबी Lyrics-1964
Music By: मदन मोहन
Lyrics : राजिंदर कृष्ण
Singer(s): मो.रफ़ी, आशा भोंसले

तुम हो हसीं कहाँ के
हम चाँद आसमां के
हाय हाय गरूर इतना
हाँ हाँ हुज़ूर इतना
उफ़ ये अदा, हाय ये नशा
हा हा हा

करते हो बात बढ़-बढ़ के दिन जो शबाब के ठहरे
क्या तीर मेरी नज़रों के दिल में जनाब के ठहरे
उफ़ ये ग़ज़ब, हाय हाय ये ढप
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के…

ओये होए ये चाल का जादू, डर है ज़मीं ना फट जाए
सीने को थाम कर रखो, दिल न जगह से हट जाए
उफ़ ये अकड़, हाय ये पकड़
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के…

क्या रब जो हुस्न वालों को कैसा मिजाज़ देता है
जीवन में सेज फूलों की, मरने पे ताज देता है
हाय ये गुमां, जाए कहाँ
हाय हाय हाय
तुम हो हसीं कहाँ के…

Leave a Comment

Your email address will not be published.