Chitta Kurta Song Hindi Lyrics – Karan Aujla | Deep Jandu 2019

Chitta Kurta Song Detail
Song Title: Chitta Kurta
Singer / lyrics / composer : Karan Aujla Feat. Gurlez Akhtar
Music: Deep Jandu
Video: Sukh Sanghera
Producer: Sandeep Rehaan
Project By: Deep Rehaan & Sukh Bajwa
Music Label: Rehaan Records

Chitta Kurta Song Lyrics in Hindi

हो आजहे कल सी बनाया
जट्टा नवा सी सिमाया
वे तू सचो सच दस मेनू करके की आया
बेहज़ा घरे टिक के सक़ून नाल वे
फिरदा क्यों भीड़दा क़ानून नाल वे

हाए अज्ज फिर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे
अज्ज फिर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे

ओ मैं सी चुप खड़ा विच आके वज्जे ने
ढाऊँ जी मरोड़ दिती हाथ सज्जे ने
खली हाथ निकलेया झल्ला ही सी मैं
नी ओ तां तीन चार सीगे काला ही सी मैं

आँख दे सी लोकां नू के धक्का करना
बोलदे ही सीगे की सी ड़क्का करना
हॉल मेनू पेह गया सी पक्का करना
इने विच कूड़े सारा निब्बद गया

ओ वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताहीयों चिट्टा कुर्ता नी लिब्बद गया
वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताहीयों चिट्टा कुर्ता नी लिपड गया

वे कल्ल नू अखबारां विच होने चर्चे
जट्टा तू वकीलां दे चलावें ख़र्चे
ओ दसवीं दे पेपर तां दिते नी गये
तैनूँ रास जट्टा थाने आले पर्चे

खाउरे किथों तेरे च दलेरी आ जावे
पेग लाके मोटा जेहा लूं नाड़ वे
उत्तों तेरे यार सारे वेल्लड यार
वे कर लावे कत्थे इक फ़ोन नाड़ वे

हाए अज्ज फिर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे
ओ अज्ज फिर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे

ओय औजले नू बहला सी हर्ख गोरिये
रातों रात भेजते नरक गोरिये
गबरू हराया जाँदा पंजे नाड़ ना
नी दो दिन धुही लग्गु मँजे नाड़ ना

मुँह ते आके निकली किसे दी आवाज़ नी
कन्ना ते लफ़ेडेयाँ नाल खाज नी
ऐंवे सी वजाए जिवें बज्जे साज नी
जदों ओहो सुधरे मैं विगड गया

आव वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताहीयों चिट्टा कुर्ता नी लिब्बद गया
वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताहीयों चिट्टा कुर्ता नी लिपड गया

वे बोर्डेरां ते ज़ट्टा तेरे पंगे चलदे
खाउरे की ट्रक आँ विच लोड करदा

हो असले तों महँगी मेनू तू पहनी ऐ
नी आइना ख़ुश रह मैं अफ़ॉर्ड कर्दान

वे रुकूँगा जट्टा नी बाहला चिर चलदा
हो जट्ट जे रुके नी बीबा फिर चलदा
ओह जट्टा वे जट्टा वे मेरा सिर चलदा
कट्टनियाँ रातां नी मैं मून नाल वे

अज्ज फेर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे

ओ वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताइयों चिट्टा कुर्ता नी लिब्बद गया

अज्ज फेर किहदे नाल कहके आ गया
चिट्टा कुर्ता लबेडेया तू ख़ून नाल वे

आव वैरि सारे शहर विचों साफ़ करते
ताइयों चिट्टा कुर्ता नी लिपड गया

विडीओ वी सुखी ने बनायी ए
सुख संघेरा

Leave a Comment

Your email address will not be published.