Hostel Boliyan Hindi Lyrics – Pukhraj Bhalla-होस्टल बोलियां

Song DETAILS :

Song Title: Hostel Boliyan
Singer: Pukhraj Bhalla and Jasmeen Akhtar
Lyrics:Bhindi Tolawal
Music:JT Beats.

FULL LYRICS :

ब्रिंग इट ओं
करनी की गॉल तोड़दे बूचना दे नाल
तुस्सी 4-4 वीक ना नाहौंदे हो
मार्दा मुश्क कूले गटर दे वांगु
फिर देव दी आ शीशियाँ मगौंदे हो

तोड़दी निट्त दी हर वहले कॅंटीन
रहो कूदीयान दे पिच्चे निट्त लौंदे ग्ेहदियान

अज्ज कॉलेज च खुद नू काहौंदे कंजेन
कल ओसे अग्गे तुस्सी लौनियँ नि रहनिया
अज्ज कॉलेज च खुद नू काहौंदे कंजेन
कल ओसे अग्गे तुस्सी लौनियँ नि रहनिया

एक्सक्यूस मे प्लीज़ टके युवर वर्ड्स बॅक

हो तर्की रे तर्की हाए नि वड्डिए रकने
आइवेइं मेरा बंद मुँह तू खुलावेिंगी
एक आधी गॉल मेतों उची नीवी हो गयी
फिर नारीवाद विच लायके आवएँगी

की तवें गुपप लैजू गॉल सारी पूती पाइजू
फिर अखियों ना तोड़दे पर्दे फ़रोलते

गद्दी लाँघेया करूगी सद्डे राजेयन दे वांगु
जड़ों काटतेया करेंगी पर्ची तू टोल ते
गद्दी लाँघेया करूगी सद्डे राजेयन दे वांगु
जड़ों काटतेया करेंगी पर्ची तू टोल ते

महीने आले पैसे दीनान दीनान विच डाके
डक्के हर वहले रहने ओह शराब दे
कमरे दी बानी विचों उडद दे निताल्ले
होके खिचड़े ओह निट्त बेहिसाब वे

चाह वाला कप तोड़दी खोलदा ना अख
जिन्ना चिर ओहदे विच नि फ़ीम घुलड़ी

तोड़दा हाल वेख किसे ने नि वियः कार्ओौना
चल काटतेया ले औनी तेरी धी वी बोलडी
हाल वेख किसे ने नि वियः कार्ओौना
चल काटतेया ले औनी तेरी धी वी बोलडी

ज्ट बीट्स!

19 नाल बाई विचों करके शॉपिंग
सितरण दियाँ पौनी ओह लोकेशन आन
नखरे दिखौनी ओह लाइन बढ़ गयी नि बाहली
ओहदों वेल नाल लड़के कालेश ना

See also  फ्रेग्रेन्स Fragrance Lyrics in Hindi – Gur Sidhu

मेरी गॉल लगगी कौड़ी पा ली माथे ते टियूडी
वॅस कर जा का मेतों दंड जिला होनियँ

मेक उप तों बिना फोटो खिच के तां वेख
कलकत्ते वाली शीला तेतों ज़्यादा सोहनी आन
बिना मेक उप तों कूड़े फोटो खिच के तां वेख
कलकत्ते वाली शीला तेतों ज़्यादा सोहनी आन

बस कर बाटन वे तू हवा च ना उडद
तेरे वरगे मैं 36 आन नू जान दी
कॉलेज च दुज्जा साल जस्सना वे तेरा
अख बाज वांगु गाबबरू पचछंदी

तेरा मेरा की आए मॅच ज़रा सोच के तां वेख
आइवेइं बह जी ना करा के वा वा मुंडेयन

पिंड विच सरपंछी चले मेरे दाद दी
वे मैनु कॉलेज च केह्ंदे का नशा मुंडेया
पिंड विच सरपंछी चले मेरे दाद दी
वे मैनु कॉलेज च केह्ंदे का नशा मुंडेया

माननेया मैं तेरे बारे जांदे ने बोहट
तैनू शोहराटन दा चढ़ेया बुखार नि
अइडडी वी नि हैगी कूड़े बुरज खलीफा
ना ही दिल वाला क़ुतुब मीनार नि
मैं तां सच गॉल करां
तयों किसे तों ना डराँ
जीते लौनी जाके ला दे शिकायत कूडीए
नि मुंडा जेब विच

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *