पसंद बानगी- Pasand Bangi Lyrics in Hindi-Gurnam Bhullar, Gurlez Akhtar

Pasand Bangi Video Song Details:

Song: Raule
Singer: Gurnam Bhullar, Gurlez Akhtar
Music: Desi Crew
Lyrics: Rony Ajnali, Gill Machhrai

Pasand Bangi Lyrics in Hindi

देसी क्र्यू, देसी क्र्यू’

नाम मेरा बोल्डा आए खुल्ली चितिए

हों लग पाए खड़क खाद सुन्न मिठिए

नाम मेरा बोल्डा आए खुल्ली चितिए

हों लग पाए खड़क खाद सुन्न मिठिए

एक पॅसे हो गया रकने गबरू

दुनिया विचले साली कंध बानगी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

मुखड़े मेरे ते संग रेहान लग पाई

जड़ों दियाँ नाम तेरा लाइन लग पाई

हो मुखड़े मेरे ते संग रेहान लग पाई

जड़ों दियाँ नाम तेरा लाइन लग पाई

सखियाँ दे विच वे हानेरए छा गये

जड़ों दियाँ चन्ना तेरा चाँद बानगी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

तुर्रडी जड़ों तू मेरे लग नाल जे

दुपेहरेयान च फीरडी मचौंडी कालज़े

वॉर्निंग आँख नू स्क्मा चलियान

बेल्ट नाल बननी घुघुयन नू तालड़े

भीड़ विच खड़े किरदार दोगले

रेटेयान दे नाल मेरी यारी छान गयी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

ओह सीनेया च बच दिल किते रेहान वे

सूट’आन नाल रंग तेरे निट्त खाईं वे

कॉफी’आन चों चालदी आ साझेदारियाँ

See also  BOMBAY TO PUNJAB Lyrics in Hindi – Deep Jandu, DIVINE

फुतत्दे ने जहदे अंगिरे फन वे

ओह मीठा जेहा हस्सा मेरा ज़हर हो गया

टेरियँ वे पक्की गुलकंद बॅन गयी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

ओह जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

ओह तारन नू फीरडे नि तेरी लोरह नि

बदेया दा लगेया पेया आए ज़ोर नि

रॉनी टूट पैना तेरा किते मंदा

डारी ना बंदूगा क्लेरी मोर नि

अज्ज नाली अज्ज नाली पिंड गोरिये

चॉबर दी पक्की आए तू माँग बॅन गयी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

हर तान वे वायर पेज तेरे करके

तू जिद्दीन दी जट्ट दी पसंद बानगी

हन पक्की वैयलपुनेया दी जप्पे माला वे

तेरा यार गिल तेरे नालो वध कला वे

ओह तेरे पीछे फीरडा रिस्क चकड़ा

बड़ा अत्रा आए पिंडों मचराई वाला वे

हन तेरी आ मैं तेरी जात्ता रख जिगरा

पाख विच तेरे आके जतती तंन गयी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

सहेलियाँ दे विच मेरे पेज फांसले

जिद्दीन दी तेरी मैं पसंद बानगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *