Peg Sheg Hindi Lyrics – Minda, Afsana Khan

Peg Sheg Hindi Lyrics – Minda, Afsana Khan-Peg Sheg lyrics in Hindi, sung by Minda, Afsana Khan

DETAILS :

Song Title: Peg Sheg
Singer: Minda, Afsana Khan
Lyrics by: Manavgeet Gill
Music: Preet Hundal

FULL LYRICS :

हुंदल ओं थे बीट यो!

वे लाभदा सी तैनू आंटी धड़ा बल्लेया
हाथ विच फादी सी गंदसी अत्रि
वारदात लिखी आज पहले पहर दी
कुट्त कुट्त देखी मैं बनौंदा बद्री

हाथ जोड़’दी मैं वैयलपूना च्छाद दे
आज देखी किडडान वैरी ज्योंदे गढ़ ते
कन्नी हाथ लाए होने आन

ओह दारू दी स्मेल आवे गद्दी विचों वे
तैनू शक़ पेग शेग लाए होने आन
वे गुट्ट उत्ते बननी फीरडा आए पत्तियाँ
खोरे आशिक़ तेरे मैं खड़काए होने आन

वे आंब्युलेन्स खड़ी सी मैं देखी सज्जना
कल जड़ों लंगी तेरे दर्रा मूहर दी
वे आंब्युलेन्स खड़ी सी मैं देखी सज्जना
कल जड़ों लंगी तेरे दर्रा मूहर दी

वड्डे खाबी ख़ान पगी भेजते
मचरी मंदीर साली सीग़ी घूरती

हाए बच जा पोलीस फिरून लाभदी लाभदी
खाबी सीट ते बरेत्ता 25 लाख दी
तू देखी मुद्धे पाए होने आन

ओह दारू दी स्मेल आवे गद्दी विचों वे
तैनू शक़ पेग शेग लाए होने आन
वे गुट्ट उत्ते बननी फीरडा आए पत्तियाँ
खोरे आशिक़ तेरे मैं खड़काए होने आन

ओह मार्दे ने फॉककी जो दहाड़ बल्लेया
हो जंदे फूसस जड़ों केस चाल्ड़े
वे मार्दे ने फॉककी जो दहाड़ बल्लेया
हो जंदे फूसस जड़ों केस चाल्ड़े

कचहरियाँ दा लगे पिंड लाख नाल नि
जड्ज दे वकील दर्दे नि झल्ड़े

हाए नि एरिया पावादू बोली रूड नि
तां वी अल्लहदन च फेमस ड्यूड नि
पातोले तरसाए होये आन

ओह दारू दी स्मेल आवे गद्दी विचों वे
तैनू शक़ पेग शेग लाए होने आन
वे गुट्ट उत्ते बननी फीरडा आए पत्तियाँ
खोरे आशिक़ तेरे मैं खड़काए होने आन

ओह दारू दी स्मेल आवे गद्दी विचों वे
तैनू शक़ पेग शेग लाए होने आन
वे गुट्ट उत्ते बननी फीरडा आए पत्तियाँ
खोरे आशिक़ तेरे मैं खड़काए होने आन
तैनू शक़ पेग शेग..

Leave a Comment

Your email address will not be published.