Akhiyan Hari Darsan Ki Pyasi (अखियाँ हरी दर्शन की प्यासी) Bhajan Lyrics

bhajan Name : अखियाँ हरी दर्शन की प्यासी, akhiyan hari darshan ki pyasi
Singer : Muhammad Rafi,
Bhajan : Bhakt Surdas
Kavi : Surdas ji
Type : devotional Bhajan Lyrics
Branch : Bhakti marg
Year : 2019

Bhajan Lyrics :

अखियाँ हरी दर्शन की प्यासी |

देखियो चाहत कमल नैन को, निसदिन रहेत उदासी |

आये उधो फिरी गए आँगन, दारी गए गर फँसी |

केसर तिलक मोतीयन की माला, ब्रिन्दावन को वासी |

काहू के मन की कोवु न जाने, लोगन के मन हासी |

सूरदास प्रभु तुम्हारे दरस बिन, लेहो करवट कासी |

See also  prabhu ji mere avgun chit na dharo Bhajan Lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *