टॉप क्लास देसी Top Class Desi Hindi Lyrics – Jimmy Kaler & Gurlez Akhtar

Song Title: Top Class Desi
Lyrics: Jimmy Kaler
Singer: Jimmy Kaler and Gurlez Akhtar
Music: Mista Baaz

Top Class Desi Lyrics in Hindi

टॉप क्लास देसी
मिस्था बाज़
खुश दिली दा स्वॅग बिल्लो

हो अख आ बिल्लोरी जात्ता मार्डी आ दबके
मैं सिटत दितते चूयिंग गुम दे वॅंग किनने छब्के
अख आ बिल्लोरी जात्ता मार्डी आ दबके
मैं सिटत दितते चूयिंग गुम दे वॅंग किनने छब्के

वे टक्कडे आ लोक चक चक नित ड्डियान
मैं कपड़ेयन वांगु चेंज करदी आन गद्दियान
हो तैनू वेख रेड लाइट उत्ते जात्ता खाद गी
वे फ़ीम रंगी रंगे मेरी सद्कन ते शूकड़ी

गौर नाल देख जात्ता मार के ब्रेक
कहरा यारी लाके वेख याद भान..जु माशूक दी
वे याद तैनू दीनान विच भुल्ल जु माशूक दी
वे याद तैनू दीनान विच भुल्ल जु माशूक दी

नि गद्दी तेरी सपप वॅंग सद्कन ते मेलडी
मैं सुनेया तू चोब्ब्रान दे दिलां नाल खेद..दी

नि गद्दी तेरी सपप वॅंग सद्कन ते मेलडी
मैं सुनेया तू चोब्ब्रान दे दिलां नाल खेद..दी
हो लगदा कोई टककरेया जट्ट नह्ीॉ पिंड दा
नि अदब आ नेचर ते उत्तों पक्का हिंद दा

नि पिंदन वेल अस्सी आन दिलां दे राजे बल्लीए
क्यों समझे तू खुद नू क्वीन चंडीगार्ह दी

तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
क्यों समझे तू खुद नू क्वीन चंडीगार्ह दी

हो आया जो रडार विच सुक्का नह्ीॉ लाँघेया
वे बचेयान ना हुसान मेरे दा जात्ता दंगेया

हो आया जो रडार विच सुक्का नह्ीॉ लाँघेया
वे बचेयान ना हुसान मेरे दा जात्ता दंगेया
कातिल अदावां दे आ पिंदन तक चर्चे
वे मेरे पिच्चे मुंडेयन ते छल्लदे आ पर्चे

तैनू वेख अज्ज़कल करे अखन टत्टियाँ
ग्ेहदी रूट उत्ते जेहदी कालज़े आ फूकड़ी

गौर नाल देख जात्ता मार के ब्रेक
कहरा यारी लाके वेख याद भान..जु माशूक दी
वे याद तैनू दीनान विच भुल्ल जु माशूक दी
वे याद तैनू दीनान विच भुल्ल जु माशूक दी

ब्रेड तेरे शहर दे खांडे हुनने जाम नि
चुंगीयाँ ने बूरियाँ ते जट्ट पूरा कायम नि

ब्रेड तेरे शहर दे खांडे हुनने जाम नि
चुंगीयाँ ने बूरियाँ ते जट्ट पूरा कायम नि
टिक टोक उत्ते बनी फीरडी स्तर नि
तू सोन लाग्गे साड्डा फोटो खिचने दा टाइम नि
नि सोन लाग्गे साड्डा फोटो खिचने दा टाइम नि

जो दिल च आ बोल्डा आह जट्ट कितों डोलडा
ट्राइ लाके फैल हो गयी चढ़दे तों चढ़ड़ी

तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
क्यों समझे तू खुद नू क्वीन चंडीगार्ह दी

एहो जी केहदी खास गॉल आ तेरे आली च
अज्ज डॅस ही दे फेर कहरा

लाई सुन्न फिर

हो जेहदी उठ तड़के नू गुरु घर जंदी आ
हो जतती मेरी गोल्ड ते जट्ट ओहदा चाँदी आ

जेहदी उठ तड़के नू गुरु घर जंदी आ
हो जतती मेरी गोल्ड ते जट्ट ओहदा चाँदी आ
हो प्प ब्रीज़ेर..आन लक्कड़ होई फीरडी तू
मेरे वाली माखन मलैइयाँ नित खंडी आ
नि मेरे वाली माखन मलैइयाँ नित खंडी आ

वे बोर्न मैं सिटी दी ते चवान नाल पाली आन
नि साब च नि औनियँ एह पिंड दियाँ गलियाँ
हो पंज इंच हील ने आ चोब्बर काई पट्ट..ते
हो पैर तेरा एंकने तिलक जाना वत्ट..ते
दलेर फिरे बुक्कड़ा हुन्न कितों रुकदा
फाड़ गयी रेस गद्दी लीह उत्ते चढ़ गयी

तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
तेतों वध कायम आ होया तैनू वहम आ
नि सोन लगे मेरे वल्ल मुहरे नि तू खाद..दी
क्यों समझे तू खुद नू क्वीन चंडीगार्ह दी

Leave a Reply