बुलबुलो मत रो यहां – ज़ीनत lyrics

बुलबुलो मत रो यहां
आंसू बहाना है मना
इन क़फ़स के कैदियों को
इन क़फ़स के कैदियों को
गुल मचाना है मना
इन क़फ़स के कैदियों को
गुल मचाना है मना
बुलबुलो मत रो यहां

छोड़ कर तूफ़ान में ये
मल्लाह कह कर चल दिया
छोड़ कर तूफ़ान में ये
मल्लाह कह कर चल दिया
डूब जा मझधार में
साहिल पे आना है मना
डूब जा मझधार में
साहिल पे आना है मना
बुलबुलो मत रो यहां

मैं हूँ वो फ़रियाद जिस
का सुनने वाला चल बसा
मैं हूँ वो फ़रियाद जिस
का सुनने वाला चल बसा
मैं हूँ वो आंसू जिसे
दामन पे आना है मना
मैं हूँ वो आंसू जिसे
दामन पे आना है मना
बुलबुलो मत रो यहां.

ज़ीनत – बुलबुलो मत रो यहां lyrics

Movie/album- ज़ीनत
Singers- नूर जहां
Song Lyricists- न/ा
Music Composer- हाफिज खान
Music Director- हाफिज खान
Music Label- सारेगामा
Starring/Cast- याकूब
Release on-

Leave a Reply