मैंने भी हुस्न की नज़रों में – वांटेड lyrics

Movie Name/Album Name- वांटेड
Singer(s)- तलत महमूद
Song Lyrics- शकील बदायूंनी
Composer- रवि शंकर शर्मा (रवि)
Director- रवि शंकर शर्मा (रवि)
Music Label- सारेगामा
Starring/Cast – विजय कुमार
Released Date-

वांटेड – मैंने भी हुस्न की नज़रों में lyrics

मैंने भी हुस्न की नज़रों में
जगह पायी है
तुम मिले हो तो मोहब्बत से
बहार आयी है
मेरे सीने पे ज़रा हाथ तो
रख कर देखो
दिल की धड़कन ये नहीं
प्यार की शहनाई है

ये हसि रूप ये ज़ुल्फ़ों के
नशीले साये
जैसे भर पूर क़यामत पे
शबाब आ जाये
ये हसि रूप ये ज़ुल्फ़ों के
नशीले साये
जैसे भर पूर क़यामत पे
शबाब आ जाये
रुख से परदे को ज़रा देर
हटा रहने दो
तुम को देखेगा वही
जिस की क़ज़ा आयी है
रुख से परदे को ज़रा देर
हटा रहने दो
तुम को देखेगा वही
जिस की क़ज़ा आयी है
मेरे सीने पे ज़रा हाथ तो
रख कर देखो
दिल की धड़कन ये नहीं
प्यार की शहनाई है

दिल तो क्या जान भी मैं तुम पे
लुटा सकता हु
ज़िन्दगी मौत के परदे में
छुपा सकता हु
मुझे गम दो की ख़ुशी
अब है तुम्हारी मर्ज़ी
मैंने तो इश्क़ में मिटने की
क़सम खायी है
मेरे सीने पे ज़रा हाथ तो
रख कर देखो
दिल की धड़कन ये नहीं
प्यार की शहनाई है

इश्क़ की राह में साहिल भी है
तूफान भी है
इस में इज़्ज़त भी है रुसवाई के
सामान भी है
इश्क़ की राह में साहिल भी है
तूफान भी है
इस में इज़्ज़त भी है रुसवाई के
सामान भी है
मेरी जान दुनिया के डर से
न बदल जाना तू
क्योंकि अब मिल के न मिलने
में भी रुसवाई है
मेरी जान दुनिया के डर से
न बदल जाना तू
क्योंकि अब मिल के न
मिलने में भी रुसवाई है
मैंने भी हुस्न की नज़रों में
जगह पायी है.

Leave a Reply