यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे
यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे
यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे
किसका है क़त्ल आज
खुदा खैर करे
किसका है क़त्ल आज
खुदा खैर करे
यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे

तूने इस दिल पे ऐसा वार किया
तेरी चाहत ने बेक़रार किया
ढूंढते ढूंढते ठिकाने पर
आ गए हम सही निशानी पर
वक़्त का आज तू सिकंदर हैं
एक तूफ़ान मेरे अंदर हैं
मौज को मौज से टकराना हैं
आग को आग से बूजने हैं
तेरे लिए हमने
मेरे बनके सितम घर
छोड़ी है शर्म लाज
खुदा खैर करे
छोड़ी हैं शर्म लाज
खुदा खैर करे
छोड़ी है शर्म लाज
खुदा खैर करे
किसका है क़त्ल आज
खुदा खैर करे
किसका हैं क़त्ल आज
खुदा खैर करे
खैर करे खैर करे
खैर करे खैर करे
यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे

अभी तक हसीनो जवान हैं वो गलियाँ
जहाँ हमने अपनी जवानी लुटा दी
मोहब्बत में लूट
जाते हैं दीं इमां
बड़ा तीर मारा जवानी लुटा दी
यह नज़र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे
यह नज़र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे
हम पे ही चोट आज
खुदा खैर करे
हम पे ही चोट आज
खुदा खैर करे

यह नहीं चोट यह हकीकत हैं
हमको सच बोलने की आदत हैं
नाम बदला है देश बदला हैं
तेरी खातिर यह भेष बदला हैं
आ गए आज तेरी महफ़िल में
ले के जज्बात यह अपने दिल में
सर तेरा आज तो झुकना हैं
यह तमाशा तुझे दिखाना हैं
कौन किसको झुकाये देखेंगे
तेरी जुल्फों के साये देखेंगे
यह बदन कांच का बिलोरी हैं
एक रेशम की कच्ची डोरि हैं
इसको एक बार जब भी पकड़ेंगे
अपनी बाहों में कस के जकडेंगे
यह चलन तेरा छूट जायेगा
हर भरम तेरा टूट जायेगा

हमको झुकाने वाले
तुझे यह खबर भी है
काँटों का हैं यह ताज
खुदा खैर करे
काँटों का हैं यह ताज
खुदा खैर करे
काँटों का हैं यह ताज
खुदा खैर करे
किसका हैं क़त्ल आज
खुदा खैर करे
किसका हैं क़त्ल आज
खुदा खैर करे
यह उम्र यह मिज़ाज
खुदा खैर करे

कैसे मैदान में तू आएगी
बोल किस तरह आजमाएगी
फ़ैज़ इजहार में क्या रखा हैं
छोड़ तकरार में क्या रखा हैं
फिर बता आगे क्या इरादा हैं
पूरा होगा यह अपना वादा हैं
प्यार की दिल में प्यास रखते हैं
तो उस से मिलने की आस रखते हैं
तूने इस दिल की बात कह दी हैं
अपने होठों के साज कहती हैं
रात को आँख खुली फिजाओं में
चाँद की ठंडी ठंडी छाँव में
उन फिजाओ में बोल क्या होगा
उन हवाओं में बोल क्या होगा
अपनी बाहों का सहारा दूंगी
तुझको जन्नत का इशारा दूंगी
हम हैं वो मसीहा
तेरे हर एक रोग का
कर देंगे अब इलाज
खुदा खैर करे
कर देंगे अब इलाज
खुदा खैर करे
कर देंगे अब इलाज
खुदा खैर करे.

ज़ुल्म का बदला – यह उम्र यह मिज़ाज lyrics

Movie/album- ज़ुल्म का बदला
Singers- महेंद्र कपूर
Song Lyricists- कुलवन्त जनि
Music Composer- मास्टर सोनिक
Music Director- मास्टर सोनिक
Music Label- टी-सीरीज म्यूजिक
Starring/Cast- राकेश रोशन
Release on- ११थ जनुअरी

https://www.youtube.com/watch?v=JL3iIncaIwE

Leave a Reply

Your email address will not be published.