Inteha Ho Gayi Intezaar Ki Lyrics-Sharaabi

इन्तहा हो गई इंतज़ार की Inteha Ho Gayi Intezaar Ki in Hindi Lyrics

Inteha Ho Gayi Intezaar Ki Song Details:

Movie/Album: शराबी (1984)- Sharaabi
Music By: बप्पी लाहिड़ी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

Inteha Ho Gayi Intezaar Ki in Hindi Lyrics

इम्तेहां हो गई इंतज़ार की
आई ना कुछ खबर, मेरे यार की
ये हमें है यक़ीन, बेवफा वो नहीं
फिर वजह क्या हुई, इंतज़ार की
इम्तेहां हो गई…

बात जो है उसमें, बात वो यहाँ कहीं नहीं किसी में
वो है मेरी, बस है मेरी, शोर है यही गली गली में
साथ साथ वो है मेरे गम में, मेरे दिल की हर खुशी में
ज़िन्दगी में वो नहीं, तो कुछ नहीं है मेरी ज़िंदगी में
बुझ न जाए ये शमा, ऐतबार की
इन्तहां हो गई…

ओ, मेरे सजना, लो मैं आ गई
ओ, लोगों ने तो दिए होंगे, बड़े बड़े नज़राने
लाई हूँ मैं तेरे लिए दिल मेरा
दिल यही माँगे दुआ हम कभी हो न जुदा
मेरा है मेरा ही रहे दिल तेरा
ये मेरी ज़िन्दगी है तेरी
ये मेरी ज़िन्दगी है तेरी
तू मेरा सपना, मैं तुझे पा गई
ओ, मेरे सजना, लो मैं आ गई

ग़मों के अंधेरे ढले, बुझते सितारे जले
देखा तुझे तो दिलों में जान आई
होठों पे तराने जागे, अरमां दीवाने जागे
बाहों में आ के तू ऐसे शरमाई
छा गई, फिर वही बेखुदी
छा गई, फिर वही बेखुदी
ला ला, ला ला…

वो घड़ी खो गई इंतज़ार की
आ गई रुत हसीं, वस्ल-ए-यार की
ये नशा, ये खुशी, अब ना कम हो कभी
उम्र भर ना ढले, रात प्यार की
रात प्यार की, रात प्यार की

More Songs :

Leave a Reply