बस के बाहर Bas Ke Bahar Lyrics in Hindi – Badshah

Bas Ke Bahar lyrics in Hindi sung by the Singer/Rapper Badshah, The Song is written by Badshah, and music composed by Hiten., While Music label by Badshah.

Song Title Bas Ke Bahar
Singers Badshah
Lyrics Badshah
Music Hiten

Bas Ke Bahar Lyrics in Hindi

मैं फ्लाइट में हूँ मैं सोया नही,
वो चूड़ गयी मैं रोया नही,
परसो रात जिसके साथ था,
मैं गाल उसका चूमा,
कहती गाल अब तक धोया नही,

लो फिर एक बार पेश-ए-खिदमत,
है मेरी ज़िंदगी लो मज़े,
वो बाकचों को स्कूल भेजकर,
करती है कॉल मुझको सुबह 9 बजे,

मैं दास्तान अपनी लिखने बेतुंगा,,
तो कइयो का नाम आएगा,
किसी की बन जाए ज़िंदगी शायद,
तो किसी के गले से नीचे ना जाम जाएगा,

रेकॉर्ड तोड़े दिल काई तोड़ कर,
सबसे उपर क्यूंकी पिच्चे सारे च्छुत गये,
गैर बन बेते फॅमिली जो बचपन से अपने थे,
वो सारे रूठ गये,

अब फोन भी आने बंद हो गये है,
कहते तुझको तंग करना नही चाहते,
तेरी ज़िंदगी रंगीन है बड़ी,
उसमे अपने फीके से रंग भरना नही चाहते,

जो तू करता है वो करना नही चाहते,
तुझसे प्यार करते है तुझसे डरना नही चाहते,
तू हर बात पे ही लड़ने को तैयार बेता है,
हम लड़ना नही चाहते,

जो सपने देखे थे वो कब्के पुर कर लिए,
बिज़्नेस, गाड़िया, कपड़े जूते, घर लिए,
वो मुझसे पुचहति है कितना प्यार करता है,
मैने बोला जिसपे मारना था मार लिए,

वो मुझसे पुचहति, तू रातों को क्यूँ जागता है,
इस गली से उस गली में क्यूँ तू भागता है,
रात मेरे घर पे सुबह किसी और के,
ये बता तू गुज़र रहा किस दौर से,

तू क्या खा रहा है ओर तुझे क्या खा रा है,
लॅमबर्गीनी सही है, पर ये रास्ता कहाँ जा रहा है,
24 घंटे साथ कभी गायब तू महीनो भर,
कितना उड़ेगा रह ले ज़मीनो पर,

कॉंपिटेशन ख़त्म रहम खा अब कामीनो पर,
कितने दिल है तेरे आएँगे कितनी हसीनो पर,
उंगलियों में ये जो पहने है तूने,
क्या सच में तुझे यकीन है उन नगीनो पर,

तेरे अस्ट्रॉलजर क्या बताते है,
ये बूरे सपने तुझे आज तक क्यूँ सताते है,
किसका गम ख़ाता है ये बता ये चस्मे काले,
किसकी यादों के आँसू च्छूपाते है,

हम कों क्यों है, और क्या है, ये बता और,
तेरी ज़िंदगी में कहाँ पर आते है,
मुझे चाहता नही कोई, लेकिन बादशाह को सारे चाहते है,

ये बातें करने का फ़ायडा ना कोई,
मेरी ज़िंदगी का कायदा ना कोई,
मैनउ चाहीदी आए तू, ते तू, ते तू,
पर मैनउ चाहिदा ना कोई,

तू किससे बात कर रही है, मुझको पता नही,
तेरे आयेज बस मेरा जिस्म है,
प्यार प्यार करता है, और जब प्यार मिले भागता है,
आदमी की कैसी किस्म है,

ये बातें खैर ना ही करो हुंसे,
हम बेकार हो चुके है,
हम तो अब खुद के बस में ही नही,
हम बस के बाहर हो चुके है

Bas Ke Bahar Song Detail

Song Bas Ke Bahar
Movie/Album
Singer(s) Badshah ,
Lyrics Badshah
Music Hiten
Music Label Badshah

Music Video of Bas Ke Bahar Song

Leave a comment