घर में पधारो गजानंद जी भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
गजानंद आनंद करो , और कर सम्पत में सिर।
दुश्मन को सजन करो , तो नुत जिमाऊ खीर।

~ घर में पधारो गजानंद जी ~

घर में पधारो गजानंद जी ,
मारे घर में पधारो। २

राम जी आना,लक्मण जी आना| २
संग में लाना सीता मैया ,
मारे घर में पधारो। …
घर में पधारो गजानंद जी ,
मारे घर में पधारो। २

ब्रह्मा जी आना विष्णु जी आना। २
भोले शंकर को भी लाना ,
मारे घर में पधारो। …
घर में पधारो गजानंद जी ,
मारे घर में पधारो। २

लक्मी जी आना गोरी जी आना। २
सरस्वती मैया को भी लाना
मारे घर में पधारो। …
घर में पधारो गजानंद जी ,
मारे घर में पधारो। २

विगन को हरना , मंगल करना। २
कारज सुभ कर जाना
मारे घर में पधारो। …
घर में पधारो गजानंद जी ,
मारे घर में पधारो। २

ghar me padharo gajanand ji bhajan, ganpati vandana ,ganesh ji bhajan घर में पधारो गजानंद जी

Leave a Reply