द्वारिकापुरी सूं बाबो आया तो खरी भजन लिरिक्स

॥ दोहा ॥
रामा कहूं के रामदेव , हीरा कहूं के लाल ।
ज्यांने मिळिया रामदेव , पल में कीना निहाल ॥

द्वारिकापुरी सूं बाबो ,
आया तो खरी ओ बापजी ,
आया तो खरी ।
दुर्बलियो देखे ने ,
दर्शण देवजो हरी , ओजी ॥

धोळा – धोळा नेजा धणी रे ,
चाहूं तो खरी ओ बापजी ,
चादूं तो खरी ।
दुर्बलियो देखे ने ,
दर्शण देवजो हरी , ओजी ॥

प्रहलादे री बेल सांवरो ,
आया तो खरी ओ बापजी ,
आया तो खरी ।
तपियोड़ा थम्बा सुं ,
बाथों वे तो रे भरी , ओजी ।
द्वारिकापुरी सूं बाबो। ……

सिरियादे री बेल सांवरो ,
आया तो खरी ओ बापजी ,
आया तो खरी ।
बळतोड़े नीवां में ,
बचिया तारिया हरी , ओजी ।
द्वारिकापुरी सूं बाबो। ……

मीरां रे मेड़तणी रे बेल ,
आया तो खरीओ बापजी ,
आया तो खरी ।
विष रा प्याला ,
इमरत कीना रे हरी , ओजी ॥
द्वारिकापुरी सूं बाबो। ……

नरसी भगत रे बेल सांवरो ,
आया तो खरी ओ बापजी ,
आया तो खरी ।
नैनी बाई रे मायरा ,
में पोटली धरी , ओजी ॥
द्वारिकापुरी सूं बाबो। ……

भीन माल रे गुन्दरे में ,
आवो तो खरी ओ बापजी ,
आवो तो खरी ।
मंदिरियो चुणायो पीथे ,
देखो तो खरी , ओजी ।
द्वारिकापुरी सूं बाबो।…

द्वारिकापुरी सूं बाबो आया तो खरी,
dwarkapuri su babo aaya to khari, ramdev ji bhajan, marwadi bhajan desi, baba ramdev ji ka bhajan

Leave a Reply