बीरा म्हारा रामदेव रे लिरिक्स

बीरा मारा रामदेव ,
राणी नेतल रा भरतार।
ऐ कर ले वाणी आवजयो ,
थारी बेनड करे पुकार।

अळगी गाणी परणाई वो बीरा जी।
ली नहीं साळ संभाल। २
जिव अमुजे उण्डी ओरिया में।
अठे पड़े रे काल पर काल।
ओ बीरा रामदेव रे ,
बाई ने एकर लेवण आ।
अळगो बाई रो सांसरो रे ,
ओ बीरा रे माता मिलन रो चा।

बेटी ने तो नुचु रेवे , बूढ़ा मायर बाप।
अळगो लगन , लिखायो रे जोशी जी।
थाने खायो नहीं कालो सांप।
ओ बीरा रामदेव रे ,
बाई ने एकर लेवण आ।
अळगो बाई रो सांसरो रे ,
ओ बीरा रे माता मिलन रो चाह ।

सांसु जितरे सांसरो रे ,
बीरा माता जिटरे पीर।
जद रे भोजाया घर आवसी रे
मारो मनडो ना माने पीर। २
ओ बीरा रामदेव रे ,
बाई ने एकर लेवण आ।
अळगो बाई रो सांसरो रे ,
ओ बीरा रे माता मिलन रो चाह ।

एकर तो बीरा माने ने बता दो ,
पिहरिया रा रुख ।
ना जाणु कद होवसी रे ,
बीरा रूणिचा में रुख। २
ओ बीरा रामदेव रे ,
बाई ने एकर लेवण आ।
अळगो बाई रो सांसरो रे ,
ओ बीरा रे माता मिलन रो चाह ।

ओळु सुगना बेन री रे ,
बीरा कथ गावै पन्ना लाल।
अब मत बिलखे सुगना बेनड़ी,
थाने रत्नो लेवन आव। २
ओ बीरा रामदेव रे ,
बाई ने एकर लेवण आ।
अळगो बाई रो सांसरो रे ,
ओ बीरा रे माता मिलन रो चाह ।

बीरा म्हारा रामदेव रे लिरिक्स bira mara ramdev bhajan ,baba ramdev ji bhajan

Leave a Reply