सतगुरु मिलवा रो लागो कोड भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
गुरु गोविन्द दोनों खड़े ,किनके लागु पाव।
बलिहारी गुरुदेव ने ,गोविन्द दियो रे बताय।

माने सतगुरु मिलवा रो लागो कोड,
उम्मेदी गेरी लाग रही।

मोय उम्मेदी ऐसी लागी ,
निर्धन के धन होय।
बांझ नार पुत्र बिन तरसे,
मै तरसु गुरु सा तोय।
उम्मेदी गेरी लाग रही।
माने सतगुरु……

सतगुरु तो दरियाव है,
मै गलिया को नीर।
बहती बून्द समंद में रळगी ,
कंचन भयो रे शरीर।
उम्मेदी गेरी लाग रही।
माने सतगुरु……

जहाज पड़ी दरियाव में,
अधबिच गोता खाय।
सतगुरु तो खेवट मिल जावे,
कर दे पलक में पार।
उम्मेदी गेरी लाग रही।
माने सतगुरु……

गुरु गहरा गुरु भाव रा ,
गुरु देवा रा देव।
रामानंद रा भणे कबीरा ,
पाया हे केवल देव।
उम्मेदी गेरी लाग रही।
माने सतगुरु……

अनिल नागौरी भजन | anil nagori ka bhajan video

सतगुरु मिलवा रो लागो कोड, satguru milwa ro lago kod bhajan gurudev bhajan lyrics in hindi
गुरुदेव भजन लिरिक्स in hindi
भजन :- सतगुरु मिलवा रो लागो कोड
गायक :- अनिल नागौरी

This Post Has 2 Comments

Leave a Reply