सतगुरु शरण जाई राम भज लेना भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
राम नाम रटते रहो जब तक घट में प्राण।
कबहुँ दिन दयाल का मनक पड़े सो काम।

सतगुरु शरणे जाए ,
राम भज लेना।
तेरा अवसर बीत्या जाए ,
देर नहीं करना।

नर नारायण देह ,
मुश्किल मिलना।
तुम सत को लेवो विचार ,
असत पर धरना।
सतगुरु …..

तेरा धन जोबन परिवार ,
स्थिर नहीं रेना।
ये जाता ने लागे वार ,
साच सुण लेना।
सतगुरु …..

अनीति अभिमान ,
कभी नहीं करना।
जो निकाले अभिमान ,
चौरासी में पड़ना।
सतगुरु …..

हो राजा एक बार ,
गुरु का लेवो शरणा।
सदा रहो आधीन ,
ध्यान हरी का धरना।
सतगुरु …..

गुरु सुखराम अमर ,
कभी नहीं मरना।
सत ईश्वर रामश्वेरुप ,
संभल रहो शरणा।

सतगुरु शरणे जाए ,
राम भज लेना।
तेरा अवसर बीत्या जाए ,
देर नहीं करना।

sunita swami ke bhajan video

सतगुरु शरण जाई राम भज लेना Satguru Sharane Jaay Ram Bhaj Lena satguru ke bhajan lyrics
सतगुरु के भजन हिंदी में lyrics सतगुरु शरण जाई राम भज लेना
भजन : – सतगुरु शरणे जाए राम भज लेना
गायिका :- सुनीता स्वामी

Leave a Reply