सारे जग में नाम कमायो भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
मीरा जन्मी मेड़ते , और मीरा नी जाया पूत।
हरी भजन रे कारणे , वा चावी चारो खुट।।

सारे जग में नाम कमायो रे ,
मीरां मेड़तणी ।
अपणो गिरधर लाल रिझायो रे ,
मीरां मेड़तणी ॥ .

राणो मीरां ने समझावे ,
क्यूं राठौड़ी आण गमावे ।
जग में लाज हमारी जावे रे ,
मीरां मेड़तणी ।।
सारे जग में नाम। …..

राणो विषको प्यालो भेज्यो ,
कयो मीरांने दे दीजो ।
ओ तो विष रो दूध बणायो रे ,
मीरां मेड़तणी ॥
सारे जग में नाम। …..

सन्मुख सर्प पिटारो आयो ,
मीरां हँसकर गळे लगायो ।
ओ तो नवसर हार बणायो रे ,
मीरां मेड़तणी ।।
सारे जग में नाम। …..

राणो मीरां ने मारण आयो ,
आंख्यां घोर अंधारो छायो ,
वो तो बार – बार पछतायो रे ,
मीरां मेड़तणी ।
सारे जग में नाम। …..

जब होश में राणो आयो ,
चरणां में शीश नवायो ।
वो तो फळ करणी रो पायो रे ,
मीरां मेड़तणी ।।
सारे जग में नाम। …..

जिनके रक्षक देवकी नंदन ,
दुनियाँ करती है उनको वंदन ,
वातो वास वैकुण्ठां पायो रे ,
मीरां मेड़तणी ॥
सारे जग में नाम। …..

सारे जग में नाम कमायो, sare jag me naam kamayo,moinuddin manchala ke bhajan, meera bai bhajan,,marwadi desi bhajan

Leave a Reply