हेली मारी होजा भजन वाली लार भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
संत उसी को जानिये , दुखा दुखावे नाय।
पान फूल तोड़े नही ,रेवे बगीचा माय।

हेली मारी होजा भजन वाली लार।
दिखा लाऊ भाव नगरी।

हेली मारी मतकर मान गुमान ,
काया थारी ऐब से भरी।
हेली मारी सतगुरु शरणे चाल ,
कढाऊ थारी ऐब ने परी।
हेली मारी होजा …..

हेली मारी भवसागर के माय ,
नाव अध् बिच में खड़ी।
हेली मारी किन विध उतरेली पार ,
फांसी माया जाल की पड़ी।
हेली मारी होजा …..

हेली मारी उपराडे बैरिया को बास ,
मारेला थने हाल की घडी।
हेली मारी लारे लारे घुमरियो काल ,
जगत से जावेली परी।
हेली मारी होजा …..

हेली मारी सोवनी सिखर गढ़ माय ,
गुरासा री सेज ढली।
हेली मारी चारो पाया दिवला संजोय ,
गुरजी आगे निरत करी।
हेली मारी होजा …..

हेली मारी गुरु मिल्या नाथ गुलाब ,
दिनी माने ज्ञान की झड़ी।
हेली मारी गावे गावे भवानीनाथ ,
भजन किया काया सुधरी।
हेली मारी होजा …..

गोपाल दास वैष्णव भजन | gopal das vaishnav ke bhajan video

हेली मारी होजा भजन वाली लार heli mari ho jaye bhajan ki lar gopal das vaishnav ke bhajan हेली भजन मारवाड़ी
मारवाड़ी हेली भजन in Hindi lyrics
भजन :- हेली होजा भजन वाली लार
गायक :- गोपाल दास वैष्णव

Leave a Reply