मात पिता से दगो जो करेगो चार जनम पछतावेगो भजन लिरिक्स

मात पिता से दगो जो करेगो,चार जनम पछतावेगो,पछतावेगो दुःख पावैगो,पछतावेगो दुःख पावैगो,बीरा म्हारा यो अवसर नहीं आवेगों,मात पिता से दगो जो करैगो,चार जनम पछतावेगो।। पहला जनम में बनेगो रे बेल तु,पकड़ किसान लै जावेगो,नाक के अंदर नाथ पहरायेगो,और परहाना से मारेगो,मारेगो सुधारेगो,बीरा म्हारा यो अवसर नहीं आवेगों,मात पिता से दगो जो करैगो,चार जनम पछतावेगो।। दूसरा …

Read more

जिनके राम भरोसा भारी उनको डर नहीं लागे रे लिरिक्स

जिनके राम भरोसा भारी, दोहा सतगुरु दयाल मुझ पर मेहर करी,तब ज्ञान का दीपक जारा,भ्रम अंधेरा मिट गया,चहु दिश भया उजियारा।रेण दिवस टूटे नहीं,ज्यूँ लगी तेल संग धारा,दास पलटू कहे ज्ञान दृष्टि सू देखियों,घट घट में ठाकुर द्वारा।राम के नाम की कोई निंदा करे,पार ब्रह्म से कर्म हैं माठा,भावबिन चांतरा देवरा धोक देता फिरे,तेल सिंदूर …

Read more

फुलड़ा परबत में खिल ग्या नारायण साढू ने मिल ग्या लिरिक्स

फुलड़ा परबत में खिल ग्या,नारायण साढू ने मिल ग्या।। खटानी भाग थारा जाग्या,नारायण गोदया में आज्ञा,गोदया में आज्ञा ये थारी,गोदया में आज्ञा,फुलड़ा पर्बत में खिल ग्या,नारायण साढू ने मिल ग्या।। बाटा बरसा तक नाली,आयो मारा बागा को माली,अब में नाचूँ दे ताली,बनजाउ मीरा मतवाली,फुलड़ा पर्बत में खिल ग्या,नारायण साढू ने मिल ग्या।। चाली सेर डुंगरिया …

Read more

आयो बाबो नरसी रे भात कुन भरसी रे भजन लिरिक्स

आयो बाबो नरसी रे,भात कुन भरसी रे,भात कुन भरसी रे,मायरो कुन भरसी रे,आयो बाबो नर्सी रे,भात कुन भरसी रे।। टूटी फूटी गाडी लायो,ढोलक मंजीरा संग लायो,तंदुरा बजाये आयो रे,के भात कुन भरसी रे,आयो बाबो नर्सी रे,भात कुन भरसी रे।। मोटा मोटा तिलक वालो,मोटी मोटी दाढ़ी वालो,छोरा छोरी डरसी रे,के भात कुन भरसी रे,आयो बाबो नर्सी …

Read more

तेरह पेढिया ऊपर म्हारे श्याम को बंगलो भजन लिरिक्स

तेरह पेढिया ऊपर म्हारे,श्याम को बंगलो,सारे जग में राज करे है,म्हारो सेठ सावरों,सेठ सावरों,जी म्हारो सेठ सावरों।। पहली पेरही पग धरताही,मिट जा सब संताप,दूजी तीजी पेरहि करदे,मैल मना का साफ़,ओ चौथी पेहरी चढ़ता भूल्या,दुनियादारी को रगड़ो। सारे जग में राज करे है,म्हारो सेठ सावरों।। पांचवीं पेहरी के ऊपर,नोबत जोर बजावां,मिलने आ गया टाबरिया,यो डंको मार …

Read more

म्हाने हिचकी आवे छाजे पर बोले कालो कागलो भजन लिरिक्स

म्हाने हिचकी आवे,छाजे पर बोले कालो कागलो,म्हाने श्याम बुलावे,याद करे है म्हारो सांवरो।। सोऊ तो सुपने दिखे जी,कोई बजा रह्यो है चंग,भक्ता सागे मिल रह्यो,कोई उड़ा रह्यो है रंग,फागणियो आग्यो,झाला देवे है म्हारो सांवरो,म्हाने श्याम बुलावे,याद करे है म्हारो सांवरो।। काम करूँ तो मन ना लगे जी,म्हारो जीवड़ो उमड्यो जाए,यूँ लागे सांवरियो म्हाने,बगल खड्यो मुस्काए,म्हने …

Read more

होली खेले बाबा श्याम आपा चाला खाटू धाम भजन लिरिक्स

होली खेले बाबा श्याम,आपा चाला खाटू धाम,होली खेले रे।। लाल अभीर गुलाल उड़त है,केशर ओर किस्तुरी रे,स्वर्ग से सुन्दर लाग म्हाने,खाटू नगरी रे,होली खेले रे। होली खेलें बाबा श्याम,आपा चाला खाटू धामहोली खेले रे।। श्याम श्याम खाटू में गुंजे,डपली चंग बजाव रे,भक्ता सागे नाचे गावे,धुम मचाव रे,होली खेले रे। होली खेलें बाबा श्याम,आपा चाला खाटू …

Read more

मैं वारी जाऊं रे बलिहारी जाऊं रे म्हारे सतगुरु आंगण आया लिरिक्स

मैं वारी जाऊं रे,बलिहारी जाऊं रे,म्हारे सतगुरु आंगण आया,मैं वारी जाऊं रे,म्हारा दाता आंगण आया,मैं वारी जाऊं रे।। म्हारा सतगुरु आंगण आया,मैं गंगा गोमती नहाया,रे मारी निर्मल हो गयी काया,मै वारी जाऊं रे,म्हारा दाता आंगण आया,मैं वारी जाऊं रे।। म्हारा सतगुरु दर्शन दीन्हा,म्हारा भाग उदय कर दीन्हा,मेरा भरम वरम सब छीना,मै वारी जाऊं रे,म्हारा दाता …

Read more

मन में महादेव जी ने दिल में पार्वता भजन लिरिक्स

मन में महादेव जी,ने दिल में पार्वता। दोहा शिव समान दाता नहीं,विपत्ति विदारण हार,लज्जा म्हारी राखियो,शिव नंदी के असवार। मन में महादेव जी,ने दिल में पार्वता,बीच में शंकर रो चेलो,शंख बजावे,बीच में शंकर रो चेलो,बंसली बजावे,बंसली री राग प्यारी,लागे महादेव रे,मिन्दर हालो पार्वता,संखला री राग प्यारी,लागे महादेव रे मेले,हालो पार्वता।। पार्वता केवे तो महादेव,चुंदड़ी मंगावे,तारा …

Read more

रुणिचे वाला थे ही हो म्हारा जनम सुधारन थे ही हो लिरिक्स

एक बात म्हारा,मायळा में उपजे,थाने सरीखा थे ही हो,एक राम दुजे दशरथ घर,तिजो दिखे नही हो,रुणिचे वाला थे ही हो,म्हारा जनम सुधारन थे ही हो,भक्तारा भिडी थे ही हो,प्रल्हाद उबारन थे ही हो,खंबो फाड लियो अवतार,हिरणाकुश मारन थे ही हो।। दडीया रमता दोटो लाग्यो,गेंद पडी धे माही हो,कुद पड्या समदर के माही,नाग नाथ कर लाई …

Read more