पर घर प्रीत मत कीजे भजन लिरिक्स

पर घर प्रीत मत कीजे भजन लिरिक्स
par ghar preet mat kije bhajan lyrics. prakash mali bhajan hindi lyrics

पर घर प्रीत मत कीजे

छेल चतुर रंग रसिया रे भंवरा ,
पर घर प्रीत मत कीजे।
पराई नारी आ नैन कटारी ,
रूप देख मत रिजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।

घर का मंदिरिया में निपट अंधेरो ,
पर घर दिवला मत जोज्ये।
ओ घर को गुड़ कांडो ही खाज्ये ,
चोरी की खांड मत खाज्ये।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।
छेल चतुर रंग। …..

पराया खेत में बीज मत बोज्ये ,
बीज अकारत जावे।
ओ कुल में दाग जगत बदनामी ,
बुरा करम मत कीजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।
छेल चतुर रंग। …..

भाईला री नार जामण जाई लागे ,
बेनड़ के मत लाज्ये।
ओ कहेत कबीर सुणो भई सादु ,
बैकुण्ठा पद पाज्ये।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।
छेल चतुर रंग। …..

छेल चतुर रंग रसिया रे भंवरा ,
पर घर प्रीत मत कीजे।
पराई नारी आ नैन कटारी ,
रूप देख मत रिजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।

See This Lyrics also:   चाल सखी सत्संग में चला भजन लिरिक्स

English Lyrics Par Ghar Preet Mat Kije Bhajan

Par Ghar Preet Mat Kijye

chhel chatur rang rasiya re bhanvara ,
par ghar preet mat keeje.
paraee naaree aa nain kataaree ,
roop dekh mat rije.
bhaee maara par ghar preet mat keeje.

ghar ka mandiriya mein nipat andhero ,
par ghar divala mat jojye.
o ghar ko gud kaando hee khaajye ,
choree kee khaand mat khaajye.
bhaee maara par ghar preet mat keeje.
chhel chatur rang. …..

paraaya khet mein beej mat bojye ,
beej akaarat jaave.
o kul mein daag jagat badanaamee ,
bura karam mat keeje.
bhaee maara par ghar preet mat keeje.
chhel chatur rang. …..

bhaeela ree naar jaaman jaee laage ,
benad ke mat laajye.
o kahet kabeer suno bhee saadu ,
baikuntha pad paajye.
bhaee maara par ghar preet mat keeje.
chhel chatur rang. …..

chhel chatur rang rasiya re bhanvara ,
par ghar preet mat keeje.
paraee naaree aa nain kataaree ,
roop dekh mat rije.
bhaee maara par ghar preet mat keeje.

See This Lyrics also:   भेरू ब्याव करादे महारे छोरा को भजन लिरिक्स

Hnidi Lyrics पर घर प्रीत मत कीजिए Bhajan

पर घर प्रीत मत कीजे

छेल चतुर रंग रसिया रे भंवरा ,पर घर प्रीत मत कीजे।
पराई नारी आ नैन कटारी ,रूप देख मत रिजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।

घर का मंदिरिया में निपट अंधेरो ,पर घर दिवला मत जोज्ये।
ओ घर को गुड़ कांडो ही खाज्ये ,चोरी की खांड मत खाज्ये।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।छेल चतुर रंग। …..

पराया खेत में बीज मत बोज्ये ,बीज अकारत जावे।
ओ कुल में दाग जगत बदनामी ,बुरा करम मत कीजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।छेल चतुर रंग। …..

भाईला री नार जामण जाई लागे ,बेनड़ के मत लाज्ये।
ओ कहेत कबीर सुणो भई सादु ,बैकुण्ठा पद पाज्ये।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।छेल चतुर रंग। …..

छेल चतुर रंग रसिया रे भंवरा ,पर घर प्रीत मत कीजे।
पराई नारी आ नैन कटारी ,रूप देख मत रिजे।
भाई मारा पर घर प्रीत मत कीजे।

See This Lyrics also:   नगर में जोगी आया प्रकाश माली भजन लिरिक्स (हिन्दी)

पर घर प्रीत मत कीजिए Bhajan Video

Bhajan / Geet(भजन ) == पर घर प्रीत मत कीजे
Bhajan Singer/गायक = प्रकाश माली
Bhajan Lyrics Type = भजन Lyrics

Leave a Comment