एक बार भजन करले लिरिक्स, ek baar bhajan karle lyrics

एक बार भजन कर ले ,
मुक्ति का यतन करले ।
छुट जाएँगे जन्म – मरण ,
प्रभु का सिमरण कर ले ।

यह मानुष का चोला ,
हर बार नहीं मिलता।
जो गिर गया डाली से ,
वह फूल नहीं खिलता ।
मौका है यह जीवन का ,
गुलजार चमन कर ले ।
एक बार ….

नर इन कानों से ,
सुन सन्तों की वाणी ।
मन को ठहरा करके ,
बन जा आत्मज्ञानी।
जिह्वा न चले मुख में ,
अब प्रभु नाम रटन रट ले ।
एक बार ….

मस्तानों की टोली में ,
ले नाम लिखा अपना ।
तब आयेगी साफ नजर ,
है दुनिया इक सपना ।
धुल जायेगी सब स्याही ,
उजला तन मन कर लें ।
एक बार ….

जो सन्तों ने गाया है ,
मैं भी हूँ उस धुन में ।
उस धुन को सुन – सुनकर ,
जग रमा उसी धुन में ।
प्रभु के आगे अब तो ,
नीची गरदन कर ले ।
एक बार ….

bhajan hindi lyrics video

एक बार भजन करले लिरिक्स, ek baar bhajan karle lyrics, hindi bhajan with lyrics, लिरिक्स हिंदी भजन, bhajan hindi lyrics
भजन :- एक बार भजन कर ले
सिंगर:- पता नहीं

Leave a Reply