जग में सुन्दर हैं दो नाम भजन | jag mein sundar hain do naam lyrics

जग में सुन्दर हैं दो नाम ,
चाहे कृष्ण कहो या राम
एक हृदय में प्रेम बढ़ावै ,
एक ताप सन्ताप मिटावै ॥

दोनों सुख के सागर हैं ,
दोनों पूरण काम ।
माखन ब्रज में एक चुरावै ,
एक बेर भिलनी के खावै ॥
जग में सुन्दर ….

प्रेम भाव के भरे अनोखे ,
दोनों के हैं काम ।
एक पापी कंस संहारे ,
एक दुष्ट रावण को मारे ॥
जग में सुन्दर ….

दोनू दीन के दुख हरता हैं ,
दोनों बल के धाम ।
एक राधिका के संग राजे .
एक जानकी संग बिराजे ॥
जग में सुन्दर ….

चाहे सीताराम कहो ,
चाहे राधेश्याम
दोनों हैं घट – घट के वासी ,
दोनों हैं आनन्द प्रकाशी ॥
राम श्याम के दिव्य भजन से ,
मिलता है विश्राम ।
जग में सुन्दर ….

anuradha paudwal bhajan lyrics video

जग में सुन्दर हैं दो नाम, jag mein sundar hain do naam lyrics, anuradha paudwal bhajan lyrics, hindi bhajan with lyrics, हिंदी भजन संग्रह लिरिक्स
भजन :- जग में सुन्दर हैं दो नाम
गायिका :- अनुराधा पौडवाल

Leave a Reply