जाने क्या जादू कर गयो रे ओ बांके सांवरिया लिरिक्स

।। दोहा ।।
ब्रज की रज चंदन बनी, माटी बनी अबीर।
कृष्ण प्रेम रंग घोल के, लिपटे सब ब्रज वीर।

जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।
बाँके सांवरिया,
मेरे प्यारे सांवरिया।
जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।

जब से सुनी है बैरन मुरलियाँ।
मन में बस गई तोरी सुरतियाँ।
बंसी बज़ा के किधर गयो रे ,
ओ बांके सांवरिया।
जाने क्या जादू कर गयो रे ,
ओ बाँके साँवरिया।

बैरन हो गई रातों की निंदियाँ।
भूल सकूँ ना मैं सांवरी सुरतिया।
घाव कलेजा में कर गयो रे,
ओ बांके सांवरिया।
जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।

तेरे दरश को जियरा तरसे।
नैना मोरा सावन ज्यूँ बरसे।
बरस बरस घर भर गयो रे,
ओ बांके सांवरिया।
जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।

ताराचंद कहे मत तरसाओ।
कृष्ण कन्हैयाँ दरश दिखाओ।
काहे भूल बिसर हे गयो रे,
ओ बांके सांवरिया।

जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।
बांके सांवरिया,
मेरे प्यारे सांवरिया।
जाने क्या जादू कर गयो रे,
ओ बाँके साँवरिया।

संजय पारीक के भजन video

जाने क्या जादू कर गयो रे ओ बांके सांवरिया Jaane Kya Jadu Kar Gayo Re krishna hindi bhajan lyrics
हिंदी भजन संग्रह लिरिक्स
भजन :- जाने क्या जादू कर गयो रे
गायक :- संजय पारीक

Leave a Reply