नगर में जोगी आया भजन लिरिक्स

नगर में जोगी आया ,
यशोदा के घर आया।
जिसे कोई समझ ने पाया ,
सबसे बड़ा है तेरा नाम ,
भोले नाथ , भोले नाथ। २

अंग विभूति गले रूद्र माला ,
शेष नाग लिपटायो।
भाको तिलक भाल चंद्र ,
नन्द घर अलख जगायो।
नगर में जोगी। …..

ले भिक्षा निकली नन्द राणी ,
कंचन थाल भरायो।
लो भिक्षा जोगी जाओ जंगल में ,
मेरो लाल डरायो।
नगर में जोगी। …..

ना चाहिये तेरी दौलत दुनिया ,
और ना कंचन माया।
मुझे तेरे लाल के दर्शन करादे ,
में कैलाश से आया।
नगर में जोगी। …..

अंश पैर पर चुम्मा करके ,
श्रृंगी नाथ बजायो।
सूर्ये दास बलहारी कन्हैया ,
जुग जुग जीत रुजायो।
नगर में जोगी। …..

नगर में जोगी आया ,
यशोदा के घर आया।
जिसे कोई समझ ने पाया ,
सबसे बड़ा है तेरा नाम ,
भोले नाथ , भोले नाथ। २

नगर में जोगी आया भजन लिरिक्स nagar me jogi aaya bhajan Hindi Lyrics . nagar me jogi aya lyrics Text. bholenath bhajan

Leave a Reply