पिंजरे के पंछी रे तेरा दर्द न जाने कोई लिरिक्स

पिंजरे के पंछी रे ,
तेरा दर्द ना जाने कोन।

बाहर से तू खामोस रहे,
भीतर भीतर रोये रे ।
तेरा दर्द ना जाने कोन।
पिंजरे के पंछी। ……

कह ना सके तू अपनी कहानी ,
तेरी भी पंछी क्या जिंदगानी रे।
विधि ने तेरी कथा लिखी है ,
आंसू में कलम डुबोय।
तेरा दर्द ना जाने कोन।
पिंजरे के पंछी। ……

चुपके चुपके रोने वाले ,
रखना छीपा के दिल के छाले रे
ये पत्थर का देश है पगले ,
कोई ना तेरा होए।
तेरा दर्द ना जाने कोन।
पिंजरे के पंछी। ……

पिंजरे के पंछी रे ,
तेरा दर्द ना जाने कोन।

पिंजरे के पंछी रे तेरा दर्द न जाने कोई लिरिक्स pinjare ke panchi re tera dard na jane koi bhajan master rana bhajan Lyrics in Hindi

Leave a Reply