बस बात जरासी होसी लिखी रे तकदीर भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
धर जाता ,धर्म पलटतां , त्रियाँ पडंता ताव।
तीन दिवस मरण रा , कुण रंक कुण राव।

बस बात जरासी ,
होसी लिखी तकदीर।

लिखी करम की कैयां टलसी ,
तेरो जोर कठे ताई चलसी।
दुरमत करयां रे घणो जी बलसी,
दुरमत छोड़ो मेरा बीर।
बस बात …

क्यूँ धन की खातिर भागे ,
किस्मत तेरे सागे सागे।
तूँ सोवे तो भी या जागे ,
थ्यावस ले मेरा बीर।
बस बात …

तेरो मन चोखी खाने पर ,
छाप लगी दाने दाने पर।
मिल जासी मौको आने पर ,
जिस रे दाने मे तेरो सीर।
बस बात …

के चावे तू चोखा संगपन,
के चावे तूँ मान बड़प्पन।
होवे एक विचारे छप्पन,
शंभु भजो रे रघुवीर।

बस बात जरासी ,
होसी लिखी तकदीर।

om prakash ji ke bhajan video

बस बात जरासी होसी लिखी रे तकदीर hosi likhi re takdeer lyrics देसी मारवाड़ी भजन desi marwadi bhajan
देसी मारवाड़ी भजन lyrics in hindi
भजन :- होसी लिखी तकदीर
गायक :- ओम जी थेथलिया

Leave a Reply