बोले मेरा सतगुरु अमृतवाणी भजन लिरिक्स

बोले मेरा सतगुरु अमृत वाणी ,
दुधा रा दूध पानी रा पानी। २।

रात नहीं निंद्रा चैन नहीं मन में ,
लागी मारे चोट सबद री तन में। २।
बोले मेरा सतगुरु। …..

सतगुरु पुष्प ने में हु भंवरा ,
हरी ने भजे ज्यारो काई लेवे जमड़ा। २।
बोले मेरा सतगुरु। …..

सतगुरु वेद खलक सब रोगी ,
हरी ने भजे ज्यारी काया निरोगी। २।
बोले मेरा सतगुरु। …..

कहेत कबीर सुणो भाई संतो ,
कंठ ह्रदय में बिठाया संतो। २।
बोले मेरा सतगुरु। …..

बोले मेरा सतगुरु अमृत वाणी ,
दुधा रा दूध पानी रा पानी। २।

बोले मेरा सतगुरु अमृतवाणी भजन लिरिक्स bole mera satguru amritvani satguru ka bhajan prakash mali bhajan Lyrics

Leave a Reply