मैली चादर ओढ के कैसे भजन लिरिक्स

मैली चादर ओढ के कैसे ,
द्वार तिहारे आऊँ ।
हे पावन परमेश्वर मेरे ,
मन ही मन शरमाऊँ ।।

तूने मुझको जग में भेजा ,
देकर सुन्दर काया ।
आकर के संसार में मैंने ,
इसको दाग लगाया ।
जनम जनम की मैली चादर ,
कैसे दाग मिटाऊँ ।
मैली चादर । ….

निर्मल वाणी पाकर तुझसे ,
नाम न तेरा गाया ।
नैन मूंदकर हे परमेश्वर !
कभी ना ध्यान लगाया ।
मन वीणा की तारें टूटी ,
अब क्या राग सुनाऊँ ॥
मैली चादर । ….

इन पैरों से चलकर तेरे ,
मन्दिर कभी न आया ।
जहाँ – जहाँ हो पूजा तेरी ,
कभी न शीश झुकाया ।
हे हरि हर ! मैं हार के आया ,
अब क्या हार चढाऊँ ।
मैली चादर । ….

anup jatola bhajan Video

मैली चादर ओढ के कैसे maili chadar odh ke kaise, hindi bhajan with lyrics, anup jatola bhajan
भजन :- मैली चादर ओढ के कैसे
गायक :- अनूप जलोटा

Leave a Reply