मुझको अगर तू फूल बनाता ओ साँवरे भजन लिरिक्स

( हर ख़ुशी है मगर,
इक कमी रह गई,
मेरी पलकों में प्यारे,
नमी रह गई,
तेरी महफिल में,
खुल के वो कहता हूँ मैं,
बात दिल की,
जो दिल में दबी रह गई,
सुन मेरे प्यारे॥ )

मुझको अगर तू फूल,
बनाता ओ साँवरे,
मंदिर मैं तेरा रोज,
सजाता ओ साँवरे.

तेरा जिक्र जिक्र इत्र का ,
तेरी बात इत्र की,
तेरी बात इत्र की,
मंदिर में तेरे होती है,
बरसात इत्र की,
छींटा कोई तो मुझपे भी,
आता ओ साँवरे,
मंदिर मैं तेरा रोज,
सजाता ओ साँवरे.

मेरे श्याम काम आता मैं,
तेरे श्रृंगार में,
तेरे श्रृंगार में,
तेरे भक्त पिरो देते मुझे,
तेरे हार में,
मुझ को गले तू रोज,
लगाता ओ साँवरे,
मंदिर मैं तेरा रोज,
सजाता ओ साँवरे.

बन के गुलाब काँटो में,
रहना कबूल है,
रहना कबूल है,
किस्मत में मेरी गर तेरे,
चरणों की धूल है,
संदीप सर ना दर से,
उठाता ओ सांवरे,
चरणों से तेरे सर ना,
उठाता ओ सांवरे,
मंदिर मैं तेरा रोज,
सजाता ओ साँवरे..

See This Lyrics also:   सावन में झूला झूल रहे राधे संग कुंज बिहारी भजन लिरिक्स

mujhako agar tu phul banata o sanvare bhajan Lyrics

( har khushi hai magar,
ik kami rah gai,
meri palakon mein pyare,
nami rah gai,
teri mahaphil mein,
khul ke vo kahata hun main,
bat dil ki,
jo dil mein dabi rah gai,
sun mere pyare. )

mujhako agar tu phul,
banata o sanvare,
mandir main tera roj,
sajata o sanvare.

tera jikr jikr itr ka ,
teri bat itr ki,
teri bat itr ki,
mandir mein tere hoti hai,
barasat itr ki,
chhinta koi to mujhape bhi,
ata o sanvare,
mandir main tera roj,
sajata o sanvare.

mere shyam kam ata main,
tere shrrngar mein,
tere shrrngar mein,
tere bhakt piro dete mujhe,
tere har mein,
mujh ko gale tu roj,
lagata o sanvare,
mandir main tera roj,
sajata o sanvare.

ban ke gulab kanto mein,
rahana kabul hai,
rahana kabul hai,
kismat mein meri gar tere,
charanon ki dhul hai,
sandip sar na dar se,
uthata o sanvare,
charanon se tere sar na,
uthata o sanvare,
mandir main tera roj,
sajata o sanvare..

See This Lyrics also:   सावन भजन - सावन का महीना घटायें घनघोर

कृष्ण भजन लिरिक्स

तर्ज – मिलती है जिंदगी में

Leave a Comment