हम परदेसी पंछी रे साधु भाई भजन | ham pardesi panchi re sadhu bhai bhajan lyrics

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ham pardesi panchi re sadhu bhai nirguni bhajan lyrics निर्गुणी भजन तंबूरा rajasthani desi bhajan

हम परदेसी पंछी रे साधो भाई

हम परदेसी पंछी रे साधो भाई,
ईणी देश रा नाही।
ईणी देस रा लोग अचेता ,
पल पल परले मे जाई।
मारा साधु भाई ,
ईणी देश रा नाही।

मुख बिन बोलना पग बीन चलना ,
बीना पंखो से उड जाई।
बीना सुरत की लोय हमारी ,
अनहद में ओलखाई।
हम परदेसी ….

छाया मे बेठु तो अगनि सी लागे ,
धुप बहुत सीतलाई।
धुप छाया से मेरे सतगुरु न्यारा,
मै सतगुरु के माही।
हम परदेसी ….

आठु पेर अड़ा रहे आसण ,
कबहु ना उतरेगा साई।
ऐसा ज्ञानी वा पच पच मरग्या ,
उणी देस के माई।
हम परदेसी ….

निर्गुणी रुपी हे मेरे दाता ,
सिर्गुणी नाम धराई।
मन पवन दोनो नही पहुचे ,
उणी देश रा माई।
हम परदेसी ….

नख सिख नेण शरीर हमारा ,
सतगुरु अमर कराई।
कहे कबीर मीलो निर्गुणी से ,
अजर अमर हो जाई।
हम परदेसी ….

See This Lyrics also:   मारा सांवरिया सिरमोर बंद दरवाजा खोल भजन लिरिक्स

================Bhajans From lyrics-in-hindi.com

BHAJAN
nirguni bhajan lyrics in English

ham pardesi panchi re sadhu bhai

ham pardesi panchhi re sadho bhai,
eenee desh ra naahee.
eenee des ra log acheta ,
pal pal parale me jaee.
maara saadhu bhaee ,
eenee desh ra naahee.

mukh bin bolna pag bin chalana ,
beena pankho se ud jaee.
beena surat kee loy hamaaree ,
anahad mein olakhaee.
ham paradesee ….

chhaya me bethu to agani see laage ,
dhup bahut seetalaee.
dhup chhaya se mere satguru nyara,
mai sataguru ke maahee.
ham paradesee ….

aathu per ada rahe aasan ,
kabahu na utarega saee.
aisa gyani va pach pach margya ,
unee des ke maee.
ham paradesee ….

nirgunee rupee he mere daata ,
sirgunee naam dharaee.
man pavan dono nahi pahuche ,
unee desh ra maee.
ham paradesee ….

nakh sikh nen shareer hamaara ,
sataguru amar karaee.
kahe kabeer meelo nirgunee se ,
ajar amar ho jaee.
ham paradesee ….

See This Lyrics also:   म्हारो बेड़ो पार लगा दाता भजन लिरिक्स

================Bhajans From lyrics-in-hindi.com

BHAJAN
निर्गुणी भजन तंबूरा lyrics in Hindi

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई

हम परदेसी पंछी रे साधो भाई, ईणी देश रा नाही।
ईणी देस रा लोग अचेता , पल पल परले मे जाई।
मारा साधु भाई ,ईणी देश रा नाही।

मुख बिन बोलना पग बीन चलना ,बीना पंखो से उड जाई।
बीना सुरत की लोय हमारी ,अनहद में ओलखाई।
हम परदेसी ….

छाया मे बेठु तो अगनि सी लागे , धुप बहुत सीतलाई।
धुप छाया से मेरे सतगुरु न्यारा, मै सतगुरु के माही।
हम परदेसी ….

आठु पेर अड़ा रहे आसण , कबहु ना उतरेगा साई।
ऐसा ज्ञानी वा पच पच मरग्या ,उणी देस के माई।
हम परदेसी ….

निर्गुणी रुपी हे मेरे दाता ,सिर्गुणी नाम धराई।
मन पवन दोनो नही पहुचे ,उणी देश रा माई।
हम परदेसी ….

नख सिख नेण शरीर हमारा ,सतगुरु अमर कराई।
कहे कबीर मीलो निर्गुणी से ,अजर अमर हो जाई।
हम परदेसी ….

See This Lyrics also:   जरा हल्के गाड़ी हांको मेरे राम गाड़ी वाले भजन लिरिक्स

rajasthani desi bhajan video

Bhajan / Geet(भजन ) == हम परदेसी पंछी रे साधो भाई
Bhajan Singer/गायक = तारा सिंह डोडवे
Bhajan Lyrics Type = भजन Lyrics

https://youtu.be/S2_KJxcgSlM

Leave a Comment