कभी राम बनके कभी श्याम बनके भजन लिरिक्स

।। दोहा ।।
राम किसी को मारे नहीं ,और नहीं है पापी राम।
अपने आप मर जावसी , कर कर खोटा काम।

कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।
तुम राम रूप में आना।
सीता साथ लेके धनुष हाथ लेके ,
चले आना प्रभु जी चले आना।
कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।

तुम श्याम रूप में आना।
राधा साथ लेके मुरली हाथ लेके।
चले आना प्रभु जी चले आना।
कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।

तुम विष्णु रूप में आना।
लक्मी साथ लेके चक्र हाथ लेके।
चले आना प्रभु जी चले आना।
कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।

तुम गणपति रूप में आना।
रिध्धि सिद्धि साथ लेके लड्डू हाथ लेके।
चले आना प्रभु जी चले आना।
कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।

तुम शिव रूप में आना।
गौरी साथ लेके डमरू हाथ लेके।
चले आना प्रभु जी चले आना।
कभी राम बनके ,कभी श्याम बनके।
चले आना प्रभु जी चले आना।

कभी राम बनके कभी श्याम बनके भजन kabhi ram banke kabhi shyam banke lyrics

Leave a Reply