कुमकुम ना पगला पड्या गरबा लिरिक्स

कुमकुम ना पगला पड्या ,
माडी ना हेत ढळया।
जोवा लोक टोळे वळया रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।

माड़ी तू जो पधार ,
जी सोळे सणगार।
आवि मारे रे द्वार ,
करजे पावन पगथार।
दीपे दरबार ,
रेले रंगनी रसधार।
गरबो गोळ गोळ घुमतो ,
थाये साकार।
थाये साकार, थाये साकार।
चाचर ना चौक हांल्या,
दिवदिया ज्योत जग्या।
मनड़ा हारोहार हाल्या रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।
कुमकुम ना ….

माँ तू तज नो अम्बार ,
माँ तू गुणनो भंडार।
माँ तू दर्शन देशे तो ,
थाशे आनंद अपार।
भवो भवनों आधार ,
दया दाखवी दातार।
कृपा कर्जे अम रंक पर ,
थोड़ी लगार।
थोड़ी लगार , थोड़ी लगार।
सूरज ना तेज तप्या ,
चंद्रकिरण हिये वस्या।
तारलिया टम टम्या रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।
कुमकुम ना ….

तारो डुँगरे आवास ,
बाणे बाणे तारो वास।
तारा मंदिरिये जोगणियु ,
रमे रुड़ा रास।
परचो देजे हे मात,
कर्जे सोने सहाय।
माड़ी हु छू तारो दास ,
तारा गुणनो हु दास।
गुण नो हु दास , गुण नो हु दास।
माड़ी तारा नाम ढल्या ,
परचा तारा खल्के चड्या।
दर्शन थी पावन थया रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।
कुमकुम ना ….

तारा गुण ला अपार ,
तू छो सोनो तारणहार।
करिस सब नू कल्याण ,
मात सब नू बेड़ो पार।
सब नू बेड़ो पार ,सब नू बेड़ो पार।
माड़ी तने अर्जी करू ,
कुलडा तारा चरणे धरु।
नमी नमी पाय पडू रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।
कुमकुम ना ….

कुमकुम ना पगला पड्या ,
माडी ना हेत ढळया।
जोवा लोक टोळे वळया रे।
माड़ी तारा आव वाना ऐंधाण थया।

daksha vegda garba video

कुमकुम ना पगला पड्या kumkum na pagla padya gujarati garba hindi lyrics
गरबा लिरिक्स इन हिंदी
भजन :- कुमकुम ना पगला पड्या
गायिका :- दक्षा वेगड़ा

Leave a Reply