नवदिया वेद क्या जाने मुझे दिल की बीमारी है भजन लिरिक्स

नबिजया वेद क्या देखे ,
मुझे दिल की बिमारी है।

कभी कफ रोग बतलाये ,
कभी तासीर गरमी की।
जिगर का हाल तू मेरा ,
ना जाने तू अनाडी है।
नबजिया वैद ….

सनम कि मोहिनी मूरत ,
बसी दिल बीच में मेरे।
न मन में चैन है तन की ,
खबर सारी बीमारी है।
नबजिया वैद ….

असर करती नहीं कोई ,
दवाई हकीमिया तेरी।
बिना दीदार दिलबर के ,
मिटे नहीं बेकरारी है।
नबजिया वैद ….

अगर दीदार को मेरे ,
मिलावे तू कभी मुझसे।
वो ब्रह्मानंद गुण तेरा ,
करू में यादगारी है।

नबिजया वेद क्या देखे ,
मुझे दिल की बिमारी है।

प्रकाश गांधी के भजन video

वदिया वेद क्या जाने मुझे दिल की बीमारी है भजन mujhe dil ki bimari hai bhajan प्रकाश गांधी के भजन
देसी भजन हिंदी lyrics
भजन :- हमें दिल की बीमारी है
गायक :- प्रकाश गाँधी

Leave a Reply