बनवारी रे जीने का सहारा तेरा नाम रे लिरिक्स

।। दोहा ।।
हरि तुम हरो जन की भीर।
द्रोपदी की लाज राखी, तुम बढायो चीर॥

बनवारी रे जीने का सहारा ,
तेरा नाम रे।
मुझे दुनिया वालों से क्या काम रे।।

झूठी दुनिया, झूठे बंधन,
झूठी है ये माया।
झूठा साँस का आना जाना ,
झूठी है ये काया।
यहाँ साँचो तेरो नाम रे।
बनवारी रे जीने का सहारा ,
तेरा नाम रे।
मुझे दुनिया वालों से क्या काम रे।

रंग में तेरे, रंग गयी गिरधर,
छोड़ दिया जग सारा।
बन गयी तेरे प्रेम के जोगन ,
लेकर के एकतारा।
मेरी बाँह पकड़ लो श्याम रे।
बनवारी रे जीने का सहारा ,
तेरा नाम रे।
मुझे दुनिया वालों से क्या काम रे।

दर्शन तेरा, जिस दिन पाऊँ,
हर चिंता मिट जाये।
जीवन मेरा इन चरणों में,
प्रेम की ज्योत जलाये।
मुझे प्यारा तेरा धाम रे।
बनवारी रे जीने का सहारा ,
तेरा नाम रे।
मुझे दुनिया वालों से क्या काम रे।

vandana bhardwaj ke bhajan

बनवारी रे जीने का सहारा तेरा नाम रे लिरिक्स banwari re jeene ka sahara meera bai bhajan lyrics in hindi
मीरा बाई के भजन लिरिक्स
भजन :- बनवारी रे जीने का सहारा
गायिका :- वंदना भारद्वाज

Leave a Reply