जय जय विघ्न हरन हनुमान भजन लिरिक्स

राम राम मेरे राम
सिया राम राम मेरे राम
जय जय राम राम मेरे राम
जय जय राम राम मेरे राम
सिया राम राम जय जय राम राम
जय जय राम राम जय राम
जय जय राम राम जय जय राम राम सिया राम
जय जय विघ्न हरण हनुमान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
मंगल मूरति ज्ञान सुजान
मंगल मूरति ज्ञान सुजान ।।

जय जय विघ्न हरण हनुमान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
जय जय बालाजी सरकार
जय जय बालाजी सरकार ।।

मंगल मूरति ज्ञान सुजान
मंगल मूरति ज्ञान सुजान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
सिया राम जय जय राम राम
प्यारे राम जय जय राम राम ।।

भोर भाई जब रवि नभ माहि
पड़क दबाया तब माहि
इंद्रा देव जब वज्रा चलाया
लाल अंजनी लाल गिराया
लाल अंजनी लाल गिराया
पवन दुलारे ओ देख कुसीन तब
देवो से पाया बल दान
जय जय विघ्न हरन हनुमान
जय जय विघ्न हरन हनुमान ।।

फल पाकर उत्पात मचाया
अपने बल को तब बिसराया
राम काज सुमिरन दिलवाया
सिंह नदी हुंकार लगाया
रावण लंका गए क्षड़ माहि
सीता से पाया वरदान
जय जय विघ्न हरन हनुमान
जय जय विघ्न हरन हनुमान ।।

मंगल मूरति ज्ञान सुजान
मंगल मूरति ज्ञान सुजान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
जय जय विघ्न हरण हनुमान
सिया राम जय जय राम राम
प्यारे राम जय जय राम राम ।।

Leave a Comment