दिल से पूजा जिसने की महावीर की

दिल से पूजा जिसने की महावीर की
है कृपा उनपर सदा रघुवीर की।।

है जहा हनुमान वाहा पर राम है
जिनसे बनाना हर असंभव काम है।।

साधना इनकी अटल है राम की
है कृपा उनपर सदा रघुवीर की।।

दिल से पूजा जिसने की महावीर की
है कृपा उनपर सदा रघुवीर की।।

भय मिटाते आप शक्ति मान हो
भाव से सब दे रहा आप को जो ज्ञान है।।

See This Lyrics also:   न स्वर है न सरगम है न लय न तराना है भजन लिरिक्स

Leave a Comment